अतीक अहमद समेत उन लोगों पर प्रयागराज विकास प्राधिकरण शिकंजा कसने जा रहा है जिनके अवैध निर्माण ढहाए गए थे

माफिया अतीक अहमद समेत उन लोगों पर प्रयागराज विकास प्राधिकरण (पीडीए) ने एक बार फिर शिकंजा कसने की तैयारी की है, जिनके अवैध निर्माण बीते डेढ़ साल की अवधि के दौरान ढहाए गए थे। ध्वस्तीकरण चार्ज की वसूली के लिए सभी को आरसी (रिकवरी सर्टिफिकेट) जारी करने की कार्रवाई शुरू हो गई है। आरसी जारी होने के बाद 10 फीसद अतिरिक्त धनराशि के साथ ध्वस्तीकरण चार्ज वसूला जाएगा।

पीडीए, जिला और पुलिस प्रशासन ने सितंबर 2020 में ‘आपरेशन माफिया’ शुरू किया था। इसके तहत उन माफिया और अपराधियों के अवैध मकान, लाज, गेस्ट हाउस, कोल्ड स्टोरेज, शापिग कांप्लेक्स इत्यादि जमींदोज किए गए, जिन्होंने सरकारी जमीन पर अथवा अवैध निर्माण कराया था। कोरोना की दूसरी लहर के पहले यानी मार्च 2021 तक कुल 59 अवैध निर्माण ढहाए गए हैं। ध्वस्तीकरण चार्ज की वसूली के लिए प्राधिकरण द्वारा पूर्व में सभी को नोटिस जारी किया गया था लेकिन इसे किसी ने जमा नहीं किया। ऐसे में प्राधिकरण द्वारा अब सभी को आरसी भेजने की कार्रवाई शुरू कर दी गई है।

वसूलने वाला विभाग लेगा 10 फीसद: अभियान से जुड़े पीडीए के एक अधिकारी का कहना है कि आरसी जारी होने पर 10 फीसद अतिरिक्त वसूली की जाती है। यह रकम वसूली करने वाला सरकारी विभाग ले लेगा। ध्वस्तीकरण चार्ज प्राधिकरण के कोष में जमा कराया जाएगा। प्राधिकरण को इससे करोड़ों रुपये की आय होने का अनुमान है।

भविष्य में ध्वस्तीकरण संग रिकवरी: इस मसले पर प्राधिकरण का रुख बेहद सख्त है। उच्चाधिकारियों ने भविष्य में ध्वस्तीकरण कराने के साथ ही ध्वस्तीकरण चार्ज की रिकवरी अवैध निर्माण कराने वालों से करने के निर्देश दिए हैं।

Related posts