आखिर क्या होता है ‘लो अर्थ ऑर्बिट’? आप भी जानिए

low earth orbit ,what is low earth orbit ,low earth orbit satellite

टीम चैतन्य भारत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज सुबह एक ट्वीट कर देशभर की जनता को चौंका दिया था। पीएम ने सुबह 11 बजकर 23 मिनट पर अचानक एक ट्वीट किया जिसमें उन्होंने किसी बड़े ऐलान के संकेत दिए। इसके बाद से ही सभी लोग बेसब्री से पीएम के मैसेज का इंतजार करने लगे। ट्वीट करने के कुछ ही देर बाद पीएम मोदी ने बताया कि, भारत ने पृथ्वी की निचली कक्षा में एंटी सैटेलाइट मिसाइल से एक सैटेलाइट को मार गिराया है। भारत के वैज्ञानिकों द्वारा जिस ऑपरेशन को यह अंजाम दिया गया है वह पृथ्वी की निचली कक्षा यानी लो अर्थ ऑर्बिट (Low Earth Orbit) में किया गया है। लो अर्थ ऑर्बिट का नाम सुनकर सभी के मन में यह सवाल आ रहा है कि आखिर यह होता क्या है?

क्या होता है लो अर्थ ऑर्बिट?

जानकारी के लिए बता दें पृथ्वी के केंद्र से 2000 किलोमीटर या 1200 मील की परिधि को लो अर्थ ऑर्बिट कहा जाता है। यह पृथ्वी के सबसे ज्यादा नजदीक होता है। लो अर्थ ऑर्बिट के बाद आता है ‘मिडियन अर्थ ऑर्बिट’, ‘Geosynchronous ऑर्बिट’ और फिर उसके बाद आता है ‘हाई अर्थ ऑर्बिट’। जानकारी के मुताबिक, हाई अर्थ ऑर्बिट पृथ्वी की सतह से करीब 35,786 किलोमीटर पर स्थित है।

यह उपलब्धि हासिल करने वाला चौथा देश बना भारत

हमारे देश ने एंटी सैटेलाइट मिसाइल के जरिए पृथ्वी की सतह से 300 किलोमीटर दूर एक सैटेलाइट को मार गिराया है। इसी के साथ अंतरिक्ष में भारत यह उपलब्धि हासिल कर अमेरिका, चीन और रूस के बाद ऐसा करने वाला चौथा बड़ा देश बन गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस बारे में जानकारी देते हुए कहा कि, ‘भारत का यह मिशन किसी देश के खिलाफ नहीं है।’ इस मिशन का नाम ‘मिशन शक्ति’ रखा गया था।

Related posts