आनंद गिरि, आद्या प्रसाद तिवारी और उसके बेटे संदीप तिवारी का कराया जाएगा नार्को टेस्ट

महंत नरेंद्र गिरि मृत्यु प्रकरण की जांच कर रही केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआइ) अब अभियुक्त आनंद गिरि, आद्या प्रसाद तिवारी और उसके बेटे संदीप तिवारी का नार्को टेस्ट करवाएगी। जांच एजेंसी की तरफ से मंगलवार को इसके लिए मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी (सीजेएम) कोर्ट में अर्जी दी गई। अब आरोपितों को वीडियो कांफ्रेंसिग के जरिए कोर्ट में पेश किया जाएगा। यदि तीनों आरोपित नार्को टेस्ट के लिए सहमति जताते हैं तो सीबीआइ की अर्जी पर सुनवाई होगी। आनंद गिरि के अधिवक्ता ने भी पक्ष सुने जाने की मांग की है। उनकी अर्जी पर 18 अक्टूबर को सुनवाई होगी।

सीबीआइ अधिकारियों ने अभियोजन अधिकारी अतुल्य कुमार द्विवेदी व प्रदीप कुमार के जरिए मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट हरेंद्र नाथ के समक्ष अर्जी प्रस्तुत की। अदालत से अनुरोध किया गया है कि सत्यता जानने के लिए आरोपितों का नार्को टेस्ट कराने की अनुमति प्रदान की जाए। आरोपितों के अधिवक्ता सुधीर श्रीवास्तव एवं विजय द्विवेदी की तरफ से अलग से दिए गए प्रार्थना पत्र में नार्को टेस्ट के संबंध में अपना पक्ष रखने के लिए समय दिए जाने की मांग की गई, जिस पर सुनवाई के लिए न्यायालय ने 18 अक्टूबर की तिथि नियत की है। श्री मठ बाघम्बरी गद्दी स्थित गेस्ट हाउस के एक कमरे में 20 सितंबर की शाम महंत नरेंद्र गिरि मृत मिले थे। मौके से सुसाइड नोट बरामद हुआ था। प्रथम दृष्टया मामला आत्महत्या का बताया गया जबकि कुछ लोगों ने हत्या की आशंका जाहिर की। जार्जटाउन थाने में आनंद गिरि के खिलाफ महंत को आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में मुकदमा लिखा गया है। पुलिस ने सुसाइड नोट के आधार पर आनंद के अलावा बंधवा स्थित लेटे हनुमान मंदिर के पूर्व पुजारी आद्या प्रसाद व उसके बेटे संदीप को भी गिरफ्तार किया है। तीनों इस वक्त केंद्रीय कारागार नैनी में निरुद्ध हैं।

Related posts