इलाहाबाद विश्वविद्यालय में छात्रसंघ की बहाली के लिए लंबे समय से चल रहे आंदोलन में भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर का समर्थन

इलाहाबाद विश्वविद्यालय में अगर छात्रसंघ की बहाली नहीं हुई तो विश्वविद्यालय प्रशासन और सरकार से छात्रसंघ छीन लेंगे। यह बात भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर ने कही। वह रविवार को इलाहाबाद विश्वविद्यालय (इविवि) के छात्रसंघ भवन पर पहुंचे थे, जहां उन्होंने छात्रसंघ बहाली को लेकर 425 दिनों से आंदोलन को अपना  समर्थन दिया।

आक्रामक तेवर में नजर आए चंद्रशेखर ने जिला प्रशासन को चेतावनी दी कि किसी भी आंदोलनकारी साथी को धमकी दी जाती है या प्रताड़ना अथवा मुकदमा होता है तो वहां खुद आकर यहां धरने पर बैठ जाएंगे और इसके लिए जिला प्रशासन जिम्मेदार होगा। चंद्रशेखर ने आरोप लगाया कि सरकार नहीं चाहती कि गांव, गरीब, खेल-खलिहान, मजदूर का बेटा आगे बढ़े और आंख में आंख डालकर उनसे बात करे। चंद्रशेखर ने छात्रों में जोश भरते हुए छात्रसंघ बहाली के आंदोलन को धार देने के साथ इसे प्रदेशव्यापी बनाने का वादा किया।

चंद्रशेखर ने आंदोलन का नेतृत्व कर रहे छात्र नेता अजय यादव सम्राट से फोन पर वार्ता भी की। कुछ दिनों पहले आंदोलन स्थल पर नाक और मुंह से खून आने के कारण अजय की तबीयत बिगड़ गई थी और गंभीर हालत में उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था। अजय ने उन्हें बताया कि 425 दिनों से आंदोलन जारी है, लेकिन विश्वविद्यालय प्रशासन का कोई प्रतिनिधि बात करते भी नहीं आया। चंद्रशेखर ने भरोसा दिलाया कि छात्रसंघ की बहाली नहीं हुई तो वह खुद धरने पर बैठेंगे। इस मौके पर अजमल खान, विनय सागर, वंदना सोनकर, अरविंद सोनकर, निर्मल राव, पूनम, शिव अंबेडकर, राज गौतम, पंकज सोनकर, दीपक पटेल, वीरेंद्र पटेल, राम नरेश यादव, प्रमोद यादव आदि मौजूद रहे।

Related posts