उत्तर प्रदेश के देवबंद से जैश के दो संदिग्ध आतंकी गिरफ्तार, जैश में युवकों की करते थे भर्ती

चैतन्य भारत न्यूज

लखनऊ. उत्तर प्रदेश की एंटी टेररिस्ट स्क्वॉड (एटीएस) ने शुक्रवार तड़के सहारनपुर के देवबंद से दो संदिग्ध आतंकियों को गिरफ्तार किया है। दोनों आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सक्रिय सदस्य बताए जा रहे हैं। आरोप है कि दोनों जैश में युवाओं को भर्ती करने का काम कर रहे थे।

लखनऊ में डीजीपी ओपी सिंह ने पत्रकार वार्ता में बताया कि पुख्ता जानकारी के आधार पर दो संदिग्ध आतंकियों को गिरफ्तार किया गया। दोनों कश्मीर के रहने वाले हैं। इनके नाम शाहनवाज अहमद तेली और आकिब अहमद मलिक हैं। शाहनवाज, कुलगाम का और आकिब पुलवामा का निवासी है। इनके मोबाइल फोन से आतंकी संगठन के लोगों से चैट के रिकॉर्ड मिले हैं। दोनों के पास से हथियार और कारतूस बरामद हुए हैं। दोनों युवा हैं। इसमें शाहनवाज ग्रेनेड बनाने का अच्छा जानकार बताया गया है।

डीजीपी के मुताबिक इसकी जांच की जा रही है कि ये दोनों कश्मीर से कब आए, इनको पैसे कहां से मिले और इनका लक्ष्य क्या था। जम्मू- कश्मीर पुलिस से भी जानकारी जुटाई जा रही है। यह भी पता चला है कि दोनों लंबे समय से देवबंद में पढ़ाई कर रहे थे लेकिन इनका नाम मदरसे के आधिकारिक रिकॉर्ड में दर्ज नहीं है।

इसके साथ ही दोनों के पास से कथित जेहादी ऑडियो, वीडियो और लिखित सामग्री भी बरामद हुई है। आज ही इनको एटीएस कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लिया जाएगा।
डीजीपी ने कहा कि शाहनवाज लंबे समय से जैश के नेटवर्क के लिए युवकों को भर्ती करने का काम कर रहा था। देवबंद में भी नई भर्ती के लिए कई लड़कों के संपर्क में था। उन्होंने कहा कि इन दोनों का पुलवामा आतंकी हमले से कोई संबंध है या नहीं, यह कहना अभी मुश्किल है। हम पूछताछ के बाद ही स्पष्ट कर पाएंगे।

(फोटो- शाहनवाज तेली और शाकिब अहमद मलिक)

Related posts