कप्तान महेंद्र सिंह धोनी का हो सकता है ये आखिरी इंडियन प्रीमियर लीग (IPL)

इंडियन प्रीमियर लीग के फाइनल में आज शाम चेन्नई सुपर किंग्स की टीम कोलकाता नाइटराइडर्स के खिलाफ खेलने उतरेगी। टीम का इरादा चौथी बार इस टूर्नामेंट के जीत ट्राफी पर कब्जा जमाने का होगा। कप्तान महेंद्र सिंह धौनी का यह बतौर खिलाड़ी आखिरी आइपीएल मैच हो सकता है। कप्तान ने इस सीजन में मैच खेलते हुए इस बात के संकेत दे दिए हैं कि शायद अगले सीजन में वह टीम जर्सी में मैदान पर बतौर खिलाड़ी खेलते नजर ना आएं।

पूर्व क्रिकेटर आकाश चोपड़ा ने कहा, “इसमें तो कोई शक ही नहीं है कि धौनी को सीएसके रिटेन करेगी। फिर बात यह है कि किस उदेश्य से उनका रखा जाएगा उनके उपर होगा। चेन्नई की टीम और धौनी के बीच कभी भी लेन देन वाली रिश्ता को रहा नहीं है। एमएसडी और सीएसके एक बराबर हैं तो अगर जो वह एक सीजन और खेलना चाहते हैं तो वह अगले छह महीनों में ही होने वाला है। उनके अंदर अगर खेलने की चाहत है तो वह खेल सकते हैं।”

इस सीजन के खत्म होने के बाद आइपीएल मेगा आक्शन होगा जिसमें एक टीम के पास अधिकतम चार खिलाड़ियों को रिटेन करने का मौका होगा। इसके अलावा सभी खिलाड़ियों को नीलामी में उतरना होगा। अगर धौनी अगला सीजन खेलना चाहते हैं तो सीएसके उसे रिटेन करेगी लेकिन जो वह बतौर मेंटोर टीम के साथ काम करते हुए अपना जगह किसी और खिलाड़ी को रिटेन करने का विकल्प सीएसके को देते हैं तो यह टीम के भविष्य के लिए बेहतर होगा। 

“धौनी भी इस बात को जानते हैं कि अगले साल मेगा आक्शन होना है और एक खिलाड़ी के उपर अगले तीन सीजन के लिए बहुत सारे पैसे लगाए जाएंगे। अगर जो ऐसा होने वाला है तो फिर आप इस बड़े आक्शन में अपने लिए एक अच्छी टीम बनाने के मौके को नुकसान पहुंचाएंगे। इसी वजह से मुझे लगता है कि अगर जो यह चीज उनके भी अंदर चल रही होगी जो होगा तो मुझे लगता है एमएस एक खिलाड़ी नहीं बल्कि मेंटोर के तौर पर ही अब चेन्नई की टीम के साथ नजर आएंगे।”

Related posts