कलरफुल एलईडी लाइट से जगमगाएगा माघ मेला

प्रयागराज में माघ मेला शुरू होने में अभी डेढ़ माह से अधिक का समय है, लेकिन बिजली विभाग ने अपनी तैयारी शुरू कर दी है। कुंभ की तर्ज पर माघ मेला को दिव्य और भव्य बनाने के लिए कसरत की जा रही है। कलरफुल एलईडी लाइट लगाने की बात तय हो गई है। जल्द ही इसका टेंडर भी हो जाएगा और दिसंबर के प्रथम सप्ताह से कार्य शुरू कर दिया जाएगा।

माघ मेला को दिव्य और भव्य बनाने में बिजली विभाग का महत्वपूर्ण योगदान रहता है। इसी की रोशनी से मेला क्षेत्र जगमगाता ही नहीं है, बल्कि लोगों को अपनी तरफ आकर्षित भी करता है। मेला में काम शुरू होने में अभी कुछ वक्त है, लेकिन बिजली विभाग ने अपनी तरफ से पूरी तैयारी कर ली है। मेला क्षेत्र में सभी 16 प्रमुख द्वारों, मुख्य चौराहों पर हाईमास्ट लाइट लगाने के साथ ही पांटून पुल पर भी स्ट्रीट लाइटें लगेंगी। दोनों छोर पर हाईमास्ट लाइटें भी लगेंगी।

18 उपकेंद्रों के निर्माण के साथ ही पांच ट्राली ट्रांसफार्मर की व्यवस्था रहेगी। इसके अलावा उपकेंद्र में कोई तकनीकी गड़बड़ी आने पर 18 जेनरेटरों की भी अतिरिक्त के रूप में व्यवस्था होगी। इस बार माघ मेला में 14,100 खंभे लगाए जाने की बात कही जा रही है। ये खंभे ऐसे लगेंगे ताकि उनके बीच की दूरी का पता न चले और कहीं भी तनिक भी अंधेरा न रहे। संगम समेत सभी स्नान घाटों पर स्ट्रीट लाइटों के साथ ही हाईमास्ट लाइट भी लगेंगी। कलरफुल एलईडी लाइट भी मुख्य द्वार के साथ ही अन्य स्थानों पर लगेगी। इस पूरे काम को 31 दिसंबर तक पूरा करना होगा। इसके लिए विभाग ने अधिकारियों और कर्मचारियों की तैनाती भी करनी शुरू कर दी है।

माघ मेला में कितनी टीम बनेगी, अभी यह तय नहीं है लेकिन 12 टीमें बनाए जाने की बात कही जा रही है। ये टीमें शिफ्टवार ड्यूटी करेंगी। महत्वपूर्ण स्नान पर्वों पर टीम की संख्या दोगुनी करने की बात कही जा रही है।

बिजली विभाग के अधिशासी अभियंता बीके सक्‍सेना कहते हैं कि माघ मेला को दिव्य और भव्य बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी जाएगी। इसके लिए पूरी तैयारी कर ली गई है। टेंडर जल्द ही हो जाएगा और फिर काम शुरू होगा। 31 दिसंबर के भीतर हर हाल में काम पूरा कर लिया जाएगा।

Related posts