क़तर के विदेश मंत्री का अफ़ग़ानिस्तान दौरा, तालिबान के साथ की बातचीत

क़तर के विदेश मंत्री और उप प्रधानमंत्री शेख़ मोहम्मद बिन अब्दुल रहमान अल-थानी अफ़ग़ानिस्तान की राजधानी काबुल पहुंचे हैं. जहां पर उन्होंने देश के नए प्रधानमंत्री मुल्ला मोहम्मद हसन अखुंद से मुलाक़ात की है.

तालिबान की अफ़ग़ानिस्तान में जीत के बाद ये किसी वरिष्ठ विदेशी प्रतिनिधिमंडल का पहला दौरा है.

अफ़ग़ानिस्तान के निजी समाचार चैनल टोलो न्यूज़ के संवाददाता अब्दुल हक़ उमरी ने क़तर के विदेश मंत्री के आने का वीडियो भी ट्वीट किया है जिसमें अफ़ग़ानिस्तान के उप-प्रधानमंत्री अब्दुल सलाम हनफ़ी उनका स्वागत कर रहे हैं.

क़तर के विदेश मंत्री ने इसके अलावा पूर्व राष्ट्रपति हामिद करज़ई और पूर्व सीईओ अब्दुल्ला अब्दुल्ला से भी मुलाक़ात की है जिसकी तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं.

क्या बातचीत हुई

तालिबान नेताओं से बातचीत के बाद एक बयान जारी किया गया है जिसमें कहा गया है कि बातचीत में ‘द्विपक्षीय संबंध, मानवीय सहायता, आर्थिक विकास और दुनिया के साथ लगातार विचार-विमर्श जैसे मुद्दे शामिल थे.’

विश्लेषकों का मानना है कि क़तर के विदेश मंत्री का दौरा अफ़ग़ानिस्तान में वर्तमान में राजनीतिक अस्थिरता को दिखाता है.

इससे पहले क़तर के विदेश मंत्री ने अफ़ग़ानिस्तान के हालात को लेकर तुर्की और पाकिस्तान का दौरा किया था.

ग़ौरतलब है कि क़तर लंबे से समय से तालिबान और अमेरिका के बीच मध्यस्थ की भूमिका अदा करता रहा है.

इस समय अमेरिका के ज़रिए अफ़ग़ानिस्तान से निकाले गए हज़ारों नागरिक क़तर में मौजूद हैं जो अब आगे दूसरे देशों में जाएंगे.

Related posts