कोरोना की तीसरी लहर तेजी से बढ़ रही, सांसद रीता जोशी समेत 402 नए कोरोना संक्रमित

कोरोना संक्रमण जोर पकड़ता जा रहा है इसलिए सावधान रहने की सभी को जरूरत है। लगातार दूसरे दिन शुक्रवार को संक्रमण के केस 400 से ज्यादा रहे। बीते 24 घंटे में 402 लोग संक्रमित हो गए। इससे पहले गुरुवार को 416 लोग संक्रमित हुए थे। इलाहाबाद की सांसद डा. रीता बहुगुणा जोशी, सपा जिलाध्यक्ष योगेश चंद्र यादव को भी कोरोना हो गया है जबकि पांच वर्षीय एक बच्चे को गंभीर हालत में स्वरूपरानी नेहरू चिकित्सालय के कोरोना वार्ड में भर्ती कराया गया है। इस बच्चे को ब्लड कैंसर पहले से है, उसका इलाज कमला नेहरू हास्पिटल में हो रहा था तभी उसकी कोरोना जांच रिपोर्ट पाजिटिव आ गई। कोरोना वायरस की ताकत इस बार कमजोर जरूर है लेकिन इसके फैलने की शक्ति दूसरी लहर की अपेक्षा ज्यादा है। बड़े तो बड़े, अब इससे बच्चे भी संक्रमित होने लगे हैं। यह चिंताजनक बात है। एक और चिंताजनक बात यह कि लेवल थ्री कोविड अस्पताल सहित लेवल टू और लेवल वन के काेविड अस्पताल में भी भर्ती होने वालों की संख्या तेजी से बढ़ गई है। शुक्रवार को स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना से रिपोर्ट नेगेटिव हो जाने पर 49 लोगों को डिस्चार्ज किया। इनमें दो को अस्पतालों से और 47 होम आइसोलेशन से डिस्चार्ज किए गए।

प्रयागराज में कोरोना के सक्रिय केस लगातार बढ़ रहे हैं। शुक्रवार को सक्रिय केस 1952 से बढ़कर 2305 हो गए। यानी जिले में वर्तमान में 2305 लोग कोरोना संक्रमित हैं और अपना इलाज करा रहे हैं।

कोराेना से बचाव के लिए जब आम लोगों को सचेत किया जा रहा है और अधिकांश अपनी सुरक्षा के प्रति सजग हो भी रहे हैं तो अति सुरक्षित रहने वाले लोग अपना बचाव नहीं कर पा रहे हैं। बीते दिनों में कई ऐसे नाम संक्रमितों के आए जो आम लोगों को भी चौंकाने वाले हैं।

सांसद डा. रीता बहुगुणा जोशी को कोरोना होने की जानकारी शुक्रवार को नई दिल्ली में कोविड जांच कराने पर हुई। इससे पहले वे आठ जनवरी की शाम को प्रयागराज में मिंटो रोड स्थित अपने आवास में थीं। नौ जनवरी को सुबह वाराणसी चली गईं और 10 को वहां से लखनऊ पहुंचीं। सांसद के प्रवक्ता अभिषेक शुक्ला ने बताया कि लखनऊ में रीता जोशी के बेटे मयंक को कोरोना संक्रमण पहले से था। गुरुवार को सांसद को भी बुखार महसूस हुआ और वह लखनऊ से दिल्ली चली गईं। दिल्ली में शुक्रवार को कोविड जांच कराई तो रिपोर्ट पाजिटिव आई। प्रवक्ता ने बताया कि सांसद होम आइसोलेशन में हैं।

संगम तट पर मकर संक्रांति के अवसर पर लाखों लोग स्नान करने पहुंचे। इन सभी के लिए मास्क अनिवार्य किया गया था लेकिन जो लापरवाह रहे उन्हें स्वास्थ्य विभाग ने शासन की तरफ से मास्क बांटे। स्नान घाटों पर महिलाओं के कपड़े बदलने वाले केबिन के आसपास कोविड हेल्प डेस्क बनाकर वहां से मास्क बांटे गए। सीएमओ डा. नानक सरन ने बताया कि 80 स्थानों पर कोविड हेल्प् डेस्क बनाई गई। इनके माध्मय से 65000 लोगों को मास्क बांटे गए।

Related posts