कोरोना से प्रयागराज में लगातार दूसरी मौत, 24 घंटे में दो सिपाहियों सहित 137 संक्रमित मिले

प्रयागराज में कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से फैलने लगा है। कोरोना से लगातार दूसरे दिन भी एक मौत हुई। 60 वर्षीय एक महिला संक्रमित की स्वरूपरानी नेहरू चिकित्सालय में मौत हो गई। उसके शव का कोविड प्रोटोकाल के तहत फाफामऊ घाट पर अंतिम संस्कार कराया गया। वार्ड में भर्ती संक्रमितों की संख्या भी बढऩे लगी है। बीते 24 घंटे में 137 लोग संक्रमित हो गए।

कोरोना संक्रमण नए लोगों में होने की रफ्तार कम भी नहीं हुई है। इनमें माघ मेला ड्यूटी पर आए दो सिपाही भी हैं। इसके साथ ही जनपद में सक्रिय केस अब 715 हो गए हैं। कोरोना की तीसरी लहर में पहली मौत भी एसआरएन अस्‍पताल में 65 वर्षीय एक महिला की हुई थी। हालांकि वह पहले से आग से झुलसी भी थी। अब जिस महिला की मौत हुई चिकित्सकों का कहना है कि उसे ब्लड प्रेशर और गुर्दे की बीमारी पहले से थी। महिला चार जनवरी को एसआरएन के कोविड वार्ड में भर्ती कराई गई थी। जनपद में कोरोना के तेजी से फैलने का क्रम बरकरार है लेकिन ओमिक्रोन की पुष्टि अभी डाक्टर नहीं कर रहे हैं।

मेडिकल कालेज की माइक्रोबायोलाजी लैब से पांच नमूने दिसंबर माह में जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए लखनऊ भेजे गए थे। उनमें किसी में ओमिक्रोन संक्रमण की पुष्टि नहीं हुई। इसके बाद सभी अन्य नमूनों की जांच माइक्रोबायोलाजी लैब में ही हो रही है।

जिला सर्विलांस अधिकारी डा. एके तिवारी ने बताया कि ओमिक्रोन अभी किसी को नहीं हुआ है। सभी की जांच प्रयागराज के मेडिकल कालेज में ही हो रही है। बताया कि माघ मेला क्षेत्र में भी सघन जांच की जा रही है और जिले में आरआरटी की सात टीमें जल्द ही बढ़ाई जाएंगी।

कोरोना के बढ़ते केस के चलते स्वास्थ्य विभाग ने पहले तो बेली अस्पताल को लेवल टू श्रेणी का दर्जा देकर कोविड अस्पताल घोषित किया। इसके बाद कोटवा एट बनी झूंसी के अस्पताल को भी लेवल वन श्रेणी का कोविड अस्पताल बना दिया गया है। इसमें माघ मेले में संक्रमित मिले दो सिपाहियों में एक को भर्ती किया गया है। बताया कि इसमें पहले की तरह ही अलक्षणीय संक्रमित भर्ती किए जाएंगे।

Related posts