कोर्ट ने आसाराम को दिया एक और झटका, खारिज की याचिका

टीम चैतन्य भारत

जोधपुर. नाबालिग छात्रा संग दुष्कर्म के मामले में उम्रकैद की सजा काट रहे आसाराम बापू को हाल ही में हाईकोर्ट ने एक और बड़ा झटका दे दिया है। कोर्ट ने आसाराम की अंतरिम जमानत याचिका को गुरुवार को खारिज कर दिया है। जानकारी के मुताबिक आसाराम की याचिका को जस्टिस संदीप मेहता की खंडपीठ ने खारिज किया है। इसके साथ ही कोर्ट ने आसाराम की याचिका पर टिप्पणी करते हुए ये भी कहा कि, ‘ऐसे अपराधियों से कोर्ट को किसी प्रकार की सहानुभूति नहीं है।’

पत्नी की बीमारी के कारण लगाई थी याचिका

जानकारी के लिए बता दें, आसाराम ने अपनी पत्नी लक्ष्मी देवी की बीमारी के विषय में अंतरिम जमानत याचिका लगाई थी। इस बारे में आसाराम की तरफ से कहा गया था कि, ‘वे पांच साल से अधिक समय से जोधपुर जेल में बंद है और उनकी पत्नी की तबीयत खराब है। ऐसे में पत्नी से मिलने के लिए अंतरिम जमानत प्रदान की जाए।’ जिसके बाद गुरुवार को जस्टिस संदीप मेहता की खंडपीठ ने सुनवाई के बाद इस याचिका को खारिज कर दिया है।

छात्रा संग यौन उत्पीड़न मामले में दोषी करार

सुनवाई के दौरान कोर्ट ने आसाराम की पत्नी की मेडिकल रिपोर्ट भी देखी। गौरतलब है कि, आसाराम पिछले पांच साल से जोधपुर के सेन्ट्रल जेल में बंद है। आसाराम पर अपने गुरुकुल में पढऩे वाली एक नाबालिग छात्रा के साथ यौन उत्पीडऩ का आरोप लगा था जिसके बाद कोर्ट ने लंबी ट्रायल के बाद आसाराम को दोषी करार दिया था। अब आसाराम की सजा स्थगन याचिका पर 6 मार्च को एक बार फिर सुनवाई होगी।

Related posts