क्राइम ब्रांच, फोरेंसिक, सर्विलांस टीम और सीओ समेत 18 पुलिसकर्मी करेंगे नरेंद्र गिरि की मौत की जांच

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरि की मौत के बाद जार्जटाउन पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है। इस हाईप्रोफाइल मामले की तह तक जांच के लिए डीआईजी ने एक एसआईटी का गठन किया गया है। इसमें सीओ समेत 18 पुलिसकर्मी शामिल है। क्राइम ब्रांच, फोरेंसिक और सर्विलांस टीम को भी इस एसआईटी में शामिल किया गया है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मंगलवार को मठ बाघंबरी गद्दी में नरेंद्र गिरि का अंतिम दर्शन करने के बाद कहा था कि इस मामले की एडीजी और कमिश्नर समेत अन्य पुलिस अफसर जांच करेंगे। शाम को पुलिस अफसरों ने बैठक की। एडीजी के निर्देश पर डीआईजी सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी ने 18 सदस्यी एक एसआईटी का गठन कर दिया। इसमें कोई भी आईपीएस नहीं है। सीओ कर्नलगंज अजीत सिंह चौहान को एसआईटी का अध्यक्ष बनाया गया है। इसके अलावा सीओ पंचम आस्था जायसवाल, थाना प्रभारी जार्जटाउन महेश सिंह, इंस्पेक्टर सुजीत दुबे, वीरेंद्र सोनकर, सर्विलांस प्रभारी संजय सिंह, नारकोटिक्स प्रभारी महावीर सिंह, जार्जटाउन थाने से दरोगा बलवंत यादव और क्राइम ब्रांच के दरोगा मनोज सिंह, दीवान अभय, नवीन राय, सिपाही विनोद दुबे, अवनीश, शशि प्रकाश और फोरेंसिक से संदीप, योगेंद्र व महिला सिपाही अनीता और स्नेहा को शामिल किया गया है।

Related posts