क्रिकेट पर भी तालिबान ‘अटैक’

 दुनिया के कई देश ने अफगानिस्तान के खिलाफ क्रिकेट खेलने से किया मना

आतंकवादी संगठन तालिबान ने अफगानिस्तान पर पूरी तरह से अब अपना कब्जा कर लिया है. आतंकवाद के इस खौफनाक संघ का असर अब धीरे-धीरे इस देश की क्रिकेट गतिविधियों पर भी पड़ रहा है. दुनिया के कई देश तो अब अफगानिस्तान के खिलाफ क्रिकेट खेलने से भी मना करने लगा हैं. ऐसा ही एक कदम अब एक और देश ने उठाया है. 

ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम के टेस्ट कप्तान टिम पेन ने कहा है कि वह उस पक्ष के खिलाफ नहीं खेलना चाहेंगे जो अपनी आधी आबादी के साथ भेदभाव करता है. ऑस्ट्रेलिया और अफगानिस्तान के बीच इस साल नवंबर में एकमात्र टेस्ट मैच होना है. अफगानिस्तान की नवनिर्वाचित तालिबान सरकार द्वारा महिलाओं के क्रिकेट खेलने के विरोध की घोषणा के बाद ऑस्ट्रेलिया और अफगानिस्तान की पुरुष टीमों के बीच टेस्ट को रद्द किया जाना तय माना जा रहा है.

गत नौ सितंबर को जारी एक बयान में, क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) ने पुष्टि की कि अगर महिलाओं के खेल पर तालिबान के विचारों की खबरें सच होती हैं तो वह 27 नवंबर से होबार्ट में होने वाले टेस्ट के साथ आगे बढ़ने में असमर्थ होगा. बयान में कहा, ‘वैश्विक स्तर पर महिला क्रिकेट के विकास को गति देना क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के लिए अविश्वसनीय रूप से महत्वपूर्ण है. क्रिकेट के लिए हमारा लक्ष्य यह है कि यह सभी के लिए एक खेल है और हम हर स्तर पर महिलाओं के लिए खेल का समर्थन करते हैं.

Related posts