चुनावी आचार संहिता लागू हो चुकी है, सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्‍ट करने वालों पर होगी कार्रवाई

यूपी विधानसभा चुनाव 2022 के तहत आदर्श चुनाव आचार संहिता लागू हो चुकी है। आचार संहिता लागू होने के बाद पुलिस भी पूरी तरह से सतर्क हो गई है। इंटरनेट मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट, भड़काऊ भाषण और राजनैतिक टिप्णणी, जिससे माहौल खराब हो सकता है। इसे लेकर विशेष सतर्कता बरतने की कवायद की जा रही है। इसको लेकर इंटरनेट मीडिया के सभी प्लेटफार्म पर कड़ी नजर रखने की तैयारी है।

रेंज स्तर पर सोशल मीडिया सेल और साइबर थाने के सभी पुलिसकर्मियों को सतर्क कर दिया गया है। ऐसा इसलिए कि प्रयागराज, कौशांबी, प्रतापगढ़ और फतेहपुर जिले में किसी भी तरह की आपत्तिजनक पोस्ट होने पर त्वरित आवश्यक कार्रवाई की जा सके।

पुलिस अधिकारियों का कहना है कि निष्पक्ष, पारदर्शी और शांतिपूर्ण ढंग से चुनाव कराना पहली प्राथमिकता है। इसके लिए हर स्तर पर तैयारी की गई है। विभिन्न राजनीतिक दल की ओर से अपना-अपना वार रूम तैयार किया गया है, जिसके जरिए फेसबुक, ट्विटर, वाट्सएप समेत दूसरे इंटरनेट मीडिया प्लेटफार्म से चुनाव प्रचार किए जाने की बात कही गई है।

कई बार ऐसा भी होता है, जब समान विचाराधारा से इतर किसी तरह की पोस्ट होने पर दूसरे तरह की प्रतिक्रिया मिलती है। कुछ लोग इंटरनेट मीडिया को अनुचित प्रयोग भी करते हैं, जिससे आदर्श चुनाव आचार संहिता की सुचिता भंग होने का अंदेशा रहता है। इस लिहाज से रेंज के चारों जिले के साइबर सेल, सोशल मीडिया सेल और साइबर थाने से इंटरनेट मीडिया की निगरानी की जाएगी। यहां पुलिसकर्मी सुबह से लेकर देर रात तक एक्टिव रहेंगे और पूरी गंभीरता के साथ इंटरनेट मीडिया के सभी फ्लेटफार्म पर नजर रखेंगे।

आइजी डाक्‍टर राकेश कुमार सिंह कहते हैं कि सोशल मीडिया सेल और साइबर थाने को पूरी तरह से एक्टिव किया गया है, ताकि कोई भी शख्स आपत्तिजनक पोस्ट न करने पाए। ऐसा करने वालों के विरुद्ध नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

Related posts