डिप्टी सीएम केशव केशव प्रसाद मौर्य भी लड़ेंगे विधानसभा चुनाव

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा चुनाव लड़े जाने की घोषणा के बाद उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य भी फ्रंट फुट पर आ गए हैं। उन्होंने सोमवार को लखनऊ में आगामी विधानसभा चुनाव लड़ाने की घोषणा की। कहा, मैं तो विधानसभा वाला हूं। मैं चुनाव लडऩा ही चाहता हूं। कहां से चुनाव लडूंगा इसका फैसला पार्टी करेगी। हम में से सब जनता से जुड़े कार्यकर्ता हैं, जनता से जुड़ा होता है वह निश्चित तौर पर विधान परिषद में नहीं जाना चाहता है। विधानसभा में ही वह चुनकर आना चाहता है। विधानसभा में रहने पर कम से कम व्यक्ति अपने क्षेत्र से आने वाली हर समस्या से अवगत होता है जिससे प्रदेश का भी परिदृश्य सामने आ जाता है।

लखनऊ में एक निजी चैनल को दिए गए डिप्टी सीएम के इस बयान से प्रयागराज से कौशांबी तक सियासी सरगर्मी बढ़ गई है। कई विधायक अपने टिकट कटने को लेकर अभी से ही चिंतित हो गए हैं। अब कयास लगाए जाने लगे कि उप मुख्यमंत्री किस सीट से मैदान में उतरेंगे। किसी ने शहर उत्तरी की बात कही तो किसी ने जातीय समीकरण का हवाला देकर फाफामऊ से मैदान में आने की आशंका जताई। वहीं तमाम लोग प्रयागराज से जुड़ी अन्य सीटों को लेकर भी कयास लगाने से पीछे नहीं हैं। लोगों ने यह भी कहा कि वह अपने गृह जनपद कौशांबी की सिराथू सीट से ताल ठोंक सकते हैं।

पिछले दिनों प्रयागराज के शहर उत्तरी क्षेत्र में तमाम कार्यों का लोकार्पण और शिलान्यास उप मुख्यमंत्री ने किया था। इसे देखते हुए शहर उत्तरी की सीट से भी उनके मैदान में आने का हवाला दिया जा रहा है। इस संबंध में भाजपा महानगर अध्यक्ष गणेश केशरवानी ने कहा कि अभी किसी सीट के लिए कोई फैसला नहीं हुआ है। किस सीट से कौन मैदान में आएगा इसका फैसला शीर्ष नेतृत्व करेगा। रही बाद उप मुख्यमंत्री केशव की तो उनका सभी लोग सम्मान करते हैं। उनके लिए कोई भी अपनी सीट छोड़ सकता है और जीत के लिए पूरी ताकत भी लगाएगा। भाजपा का लक्ष्य विधानसभा चुनाव जीतकर पूर्ण बहुमत की सरकार बनाना है। किसी सीट को लेकर कही भी खींचतान नहीं है।

Related posts