नई दिल्ली प्रबंधन संस्थान ने प्रो. संगीता श्रीवास्तव को एनडीआईएम अवार्ड से नवाजा

इलाहाबाद विश्वविद्यालय की कुलपति प्रो. संगीता श्रीवास्तव को प्रतिष्ठित “बिजनेस एक्सीलेंस एंड इनोवेटिव बेस्ट प्रैक्टिसेज एकेडेमिया अवार्ड” 2021 (NDIM) से सम्मानित किया गया है। कार्यक्रम ऑनलाइन मोड के माध्यम से आयोजित किया गया।

नई दिल्ली प्रबंधन संस्थान की सलाहकार परिषद, कार्यकारी परिषद और एनडीआईएम के निदेशक मंडल ने प्रो. संगीता श्रीवास्तव के पेशेंस, अनुकरणीय कौशल, जोखिम लेने की क्षमता, काम के प्रति गहरी प्रतिबद्धता, दृढ़ता, कार्यकुशलता व देश और समाज के लिए दिए गए उनके योगदान के लिए यह अवार्ड दिया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि के रूप में सुप्रीम कोर्ट के रिटायर्ड चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा व बिड़ला कॉपर हिंडाल्को इंडस्ट्रीज के सीईओ रोहित पाठक मौजूद रहे।

बड़े सपने देखो, उन्हें पूरा करने के लिए जरूरी एक्शन करो, सफलता कदम चूमेगी

पुरस्कार पाने के बाद कुलपति प्रो. संगीता श्रीवास्तव ने सफलता मंत्र साझा करते हुए कहा है मल्टीटास्किंग, त्वरित निर्णय क्षमता विकसित करना, कर्मचारियों को मोटीवेट रखना, इंस्टीट्यूट को बेहतर रखने के लिए नए-नए इनोवेटिव आइडियाज को लोगों के बीच लाना हमारी सफलता के पीछे की कहानी है। हमने शुरू से ही बड़े सपने देखे और उन्हें पूरा करने के लिए जरूरी एक्शन लिया और आज परिणाम आपके सामने है। यही मेरा सक्सेस मंत्र है।

परेशानी आने पर लोग हार मान लेते हैं

कुलपति प्रो. संगीता श्रीवास्तव कहा कि थोड़ी सी परेशानी आने पर लोग उससे लड़ने की बजाय अपना रास्ता बदल लेते हैं। यह उन्हें आसान लगता है। यह ठीक नहीं है। सफलता उन्हीं के कदम चूमती है जो विपरीत परिस्थितियों में भी अपने लक्ष्य के प्रति अडिग रहते है। रुकते नहीं चलते रहते हैं। प्रो. संगीता ने कहा कि परेशानियां तो आएंगी पर हमें चलते जाना है।

प्रो. संगीता श्रीवास्तव ने इलाहाबाद विश्वविद्यालय से ही पढ़ाई की है। यहीं पहली बार संविदा पर पढ़ाना शुरू किया और बाद में असिस्टेंट प्रोफेसर, एसोसिएट प्रोफेसर और फिर प्रोफेसर और कुलपति बनीं।

Related posts