पॉलीग्राफ टेस्ट में महंत नरेंद्र गिरि और आशीष गिरि की मौत से जुड़े कई राज खुलेंगे

महंत नरेंद्र गिरि की मौत के मामले में आनंद गिरि समेत तीनों आरोपियों का पॉलीग्राफ टेस्ट हुआ तो कई दफन राज बाहर आ सकते हैं। न केवल महंत नरेंद्र गिरि की मौत से जुड़े राज खुलेंगे, बल्कि आशीष गिरि समेत कई संतों की आत्महत्या की गुत्थी भी सुलझ सकती है। अब सीबीआई को कोर्ट से अनुमति मिलने का इंतजार है।

महंत नरेंद्र गिरि की मौत की जांच करने वाली सीबीआई टीम ने आनंद गिरि, आद्या तिवारी और संदीप तिवारी का पॉलीग्राफ टेस्ट कराने की मांग की है। 18 अक्तूबर को इस प्रकरण में सुनवाई होगी। सीबीआई को उम्मीद है कि पॉलीग्राफ टेस्ट से कई राज बाहर आ सकते हैं। दरअसल आनंद गिरि को सात दिन तक रिमांड पर लेकर पूछताछ करने के बाद भी सीबीआई यह पता नहीं लगा सकी कि महंत नरेंद्र गिरि का आपत्तिजनक वीडियो कहां है। उसे किसने बनाया था। दूसरा यह है कि आनंद गिरि ने अपने गुरु महंत नरेंद्र गिरि से बगावत करने के बाद उनके खिलाफ मोर्चा खोल दिया था। आनंद गिरि ने निरंजनी अखाड़े के सचिव आशीष गिरि की गोली लगने से हुई मौत की जांच कराने की मांग की थी। इसके साथ यह भी कहा था कि दो युवा संतों की संदिग्ध परिस्थिति में मौत हुई थी। ऐसे में उम्मीद जताई जा रही है कि झूठ पकड़ने वाले टेस्ट से कई राज बाहर आएंगे। मंदिर के पुजारी आद्या तिवारी भी मठ और मंदिर के राज बताएंगे।

Related posts