प्रयागराज:चौक में मल्टीलेवल पार्किंग का जल्‍द होगा निर्माण, नहीं रहेगी अब जाम की समस्‍या

प्रयागराज के लोगों के लिए राहत की खबर है। शहर के सबसे व्यस्ततम बाजार चौक क्षेत्र में खरीदारी करने जाने से लोग जाने कतराते हैं। इसका कारण भी है। चौक में वाहन खड़ा करने की पर्याप्‍त सुविधा न होने के कारण अक्‍सर जाम की समस्‍या रहती है। सड़कों के किनारे या यूं कहें कि आधी सड़क तक वाहन खड़े होने से समस्‍या बढ़ जाती है। इससे पैदल चलना भी आसान नहीं रहता। हालांकि अब शहर के लोगों को वहां जाने में परेशानी नहीं होगी। खुली सड़कें मिलेंगी और जाम की समस्‍या से भी निजात मिलेगी।

डीएम की अध्‍यक्षता में पांच सदस्‍यीय कमेटी गठित

चौक में मल्टीलेवल पार्किंग के निर्माण का रास्ता कमेटी साफ करेगी। इसके लिए डीएम की अध्यक्षता में पांच सदस्यीय कमेटी गठित हुई है। जमीन और मल्टीलेवल पार्किंग की उपयोगिता के संबंध में निर्णय लेने के लिए कमेटी बनाई गई है। कमेटी में डीएम संजय कुमार खत्री के अलावा एडीएम वित्त, प्राधिकरण के सचिव दयानंद प्रसाद, एसडीएम सदर और स्टांप विभाग के एक शीर्ष अफसर शामिल हैं। कमेटी की हरी झंडी मिलने के बाद प्रयागराज विकास प्राधिकरण (पीडीए) द्वारा आगे की कार्रवाई शुरू की जाएगी।

पांच मंजिला मल्‍टीलेवल पार्किंग का प्रस्‍ताव

चौक क्षेत्र में पार्किंग की व्यवस्था न होने से गाडिय़ां सड़कों के बीच अथवा किनारे खड़ी की जाती हैं। इससे दिनभर जाम की समस्या बनी रहती है। लिहाजा, इस समस्या से निजात के लिए विकास प्राधिकरण द्वारा करीब डेढ़-दो महीने पहले पहल की गई। प्राधिकरण ने पांच मंजिला मल्टीलेवल पार्किंग निर्माण का प्रस्ताव तैयार किया। इसके लिए लोकनाथ चौराहा के समीप जमीन का एक प्रस्ताव भी प्राधिकरण के पास आया है।

50 से 55 करोड़ खर्च का अनुमान

जमीन खरीदने और पार्किंग के निर्माण में करीब 50 से 55 करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान है।जमीन खरीदने में लगभग 20 से 25 करोड़ और निर्माण में तकरीबन 30 से 32 करोड़ रुपये खर्च होने की संभावना है। जमीन प्राधिकरण द्वारा अपने बजट से खरीदने की योजना है। निर्माण के लिए स्मार्ट सिटी मिशन रकम देने के लिए तैयार है।

25 फीसद क्षेत्रफल कामर्शियल और 75 पार्किंग के लिए होगा

मल्टीलेवल पार्किंग में 25 फीसद क्षेत्रफल कामर्शियल और 75 फीसद पार्किंग के लिए होगा। बेसमेंट में दुकानें

बनाकर बेचने से जमीन की कीमत निकल आने की उम्मीद है। मल्टीलेवल पार्किंग की क्षमता लगभग 450-500 वाहनों के खड़े करने की होगी। पीडीए के मुख्य अभियंता मनोज कुमार मिश्रा का कहना है कि कमेटी के निर्णय के बाद आगे की कार्रवाई शुरू की जाएगी।

Related posts