प्रयागराज की धरती पर सांस्कृतिक विरासत को बयां करता है “पेंट माई सिटी” अभियान

वैसे तो प्रयागराज में आयोजित होने वाला कुंभ, देश-विदेश से लोगों को आकर्षित करता ही है लेकिन इस कुंभ को और खास बनाने के लिए शुरू किया गया एक अभियान,”पेंट माई सिटी”. जैसा कि नाम से ही जाहिर है इसके तहत शहर की दीवारों,सार्वजनिक स्थलों,इमारतो, गंगा घाटों समेत मेला क्षेत्र को अलग-अलग कहानियां बयां करते चित्रों से सजाया गया था.बड़े स्तर पर शुरू किए गए इस अभियान का मुख्य मकसद था कि जब देश-विदेश से लोग प्रयागराज की धरती में घूमने आए तो दीवारों पर उकेरी गई इन कहानियों को देख कर वह सुंदरता के एहसास के साथ भारतीय धर्म संस्कृति से भी रूबरू हो सकें.इस अभियान ने बड़ी सफलता भी हासिल की है. आज भी जब लोग शहर की गलियों से गुजरते हैं ,यहां घूमते हैं तो इन चित्रों को देख कर रुक जाते हैं, इसकी खूबसूरती को निहारते हैं.इस धरती से जुड़ी पौराणिक कहानियां को जान पाते हैं.आपको बता दें कि पेंट माय सिटी अभियान में से जुड़े लगभग 500 कलाकारों में से सभी फाइन आर्ट्स के स्टूडेंट थे.

Related posts