प्रयागराज के कोषागार में जीवित प्रमाण पत्र देने बड़ी संख्या में पहुंच रहे पेंशनर

साल के आखिरी समय में जीवित प्रमाण पत्र देने के लिए पेंशनरों की बड़ी संख्या में भीड़ कोषागार कार्यालय पहुंच रही है। जनपद के कोने से कोने से पेंशनर यहां फार्म भरकर सरकार को यह अवगत करा रहे हैं कि वह जिंदा हैं। दरअसल, यह एक प्रक्रिया है कि जो सरकारी विभाग से रिटायर्ड पेंशनर हैं उन्हें वर्ष में एक बार जीवित प्रमाण पत्र देना होता है। इसके लिए साल के आखिरी दिनों में बड़ी संख्या में पेंशनर यहां उपस्थित होते हैं। मुख्य कोषाधिकारी विवेक कुमार सिंह ने भीड़ को देखते हुए कोषागार कार्यालय के बाहर अलग अलग नौ काउंटर बनवाया है ताकि पेंशनरों को कोई असुविधा न होने पाए।

कोषाधिकारी आनंद दुबे ने बताया कि प्रयागराज में करीब 43 हजार पेंशनर हैं जिनका जीवित प्रमाण पत्र जमा किया जाना है। यहां महिलाओं व दिव्यांग पेंशनरों के लिए अलग अलग काउंटर बनाए गए हैं। पेंशनर कोषागार आने के बजाय ऑनलाइन भी जीवित प्रमाण पत्र प्रस्तुत कर सकते हैं। इसी तरह जिस बैंक में उनका पेंशन जाता है वहां पर भी इसकी सुविधा मिल रही है। डाकिए के माध्यम से भी प्रमाण पत्र जमा किया जा सकता है इसके लिए डाकिए को 70 रुपये का शुल्क देना होगा।

जीवित प्रमाण पत्र प्रस्तुत करने के लिए कोषागार आने वाले पेंशनरों के लिए एक सुनहरा पल होता है। वह यहां पर पुराने दोस्तों से भी मिलते हैं और कुशल क्षेम पूछते हैं। मंगलवार को भी यहां सैकड़ों पेंशनर जुटे थे।

Related posts