प्रयागराज के दुकानदारों के बीच पालीथिन का प्रयोग नहीं करने के लिए चलाया जागरूकता अभियान

50 माइक्रान से कम पालीथिन का प्रयोग नहीं करने को लेकर अखिल भारतीय उद्योग व्यापार मंडल द्वारा चौक, ऊंचा मंडी, बजाजा पट्टी, घंटाघर क्षेत्रों में जागरूकता अभियान चलाया गया। संगठन के पदाधिकारियों ने दुकानदारों को आगाह किया कि पालीथिन की जगह ग्राहकों को कैरी बैग में सामान दें, जिससे नगर निगम द्वारा जुर्माने की कार्रवाई से बच सकें। पालीथिन का प्रयोग न होने से पर्यावरण को भी नुकसान नहीं पहुंचेगा। पदाधिकारियों द्वारा कुछ ग्राहकों और दुकानदारों को कपड़े का कैरी बैग दिया गया। इस अवसर पर जिलाध्यक्ष रमेश केसरवानी, महानगर अध्यक्ष लालू मित्तल, हरेंद्र सिंह लाली सरदार, बृजेश चौरसिया, सैफ अहमद आदि मौजूद थे। वहीं, शहर पश्चिमी व्यापार महासंघ द्वारा मुंडेरा क्षेत्र के प्रतिष्ठानों के बाहर ‘पालीथिन फ्री जोन’ बनाने संबंधी पोस्टर लगवाए गए।

नगर निगम की टीमों द्वारा जोन एक के मुंडेरा और जोन तीन के एजी आफिस स्थित फल एवं सब्जी मंडी में प्रतिबंधित पालीथिन के खिलाफ अभियान चलाया गया। कुल 2.4 किलो पालीथिन जब्त की गई और दुकानदारों से 27 सौ रुपये जुर्माना भी वसूला गया।

बिना सीएमओ कार्यालय से लाइसेंस हासिल किए क्लीनिक का संचालन मेजा क्षेत्र में दो संचालकों पर भारी पडा़। सीएमओ के निर्देश पर भेजी गई टीम ने दोनों क्लीनिक और एक पैथालाजी को सील कर दिया। चेतावनी दी कि यदि किसी ने अवैध रूप से दवा बेची तो उसके खिलाफ कठोर कार्रवाई होगी। बुधवार को एडिशनल सीएमओ डा. तीरथ लाल व सीएचसी रामनगर के अधीक्षक डा वाई पी सिंह ने उरुवा क्षेत्र के रामनगर में गीता विश्वास क्लीनिक, सोनार का तारा स्थित कमलेश क्लीनिक तथा अशोक पैथालाजी को सील कर दिया। डा वाईपी सिंह ने बताया कि वरिष्ठ अधिकारियों के पास इन अवैध क्लीनिक व पैथालाजी की शिकायत पहुंची थी।

Related posts