प्रयागराज गैंगरेप-हत्याकांड में बड़ा खुलासा

सिरफिरे आशिक व उसके दोस्तों ने युवती का गैंगरेप किया, फिर मां-बाप और भाई को मार डाला

प्रयागराज के फाफामऊ के गोहरी गांव में एक परिवार के 4 लोगों की हत्या का खुलासे का पुलिस ने दावा किया है। पुलिस के मुताबिक व्हाट्सएप पर ‘आई हेट यू’ मैसेज देखकर सिरफिरे ने पहले लड़की से रेप किया। इसके बाद पूरे परिवार की हत्या कर दी। पुलिस के अनुसार, हत्या के आरोपी के पास किशोरी का मैसेज आया था जिसे वह पढ़कर आपा खो बैठा। दोस्तों के साथ मिलकर उसने हत्या की साजिश रची।

ADG जोन प्रेम प्रकाश ने बताया कि पवन कुमार सरोज पुत्र रामकुमार निवासी थरवई ने एक तरफा प्यार में युवती के साथ रेप किया। इसके बाद उसकी हत्या कर दी। इससे पूर्व उसने युवती के मां-बाप और भाई को मौत के घाट उतार दिया था। पवन ने कुछ अन्य लोगों के शामिल होने की बात स्वीकार की है।

प्यार से मना करने पर घटना को दिया अंजाम
ADG जोन ने बताया कि पवन सरोज लड़की को लगातार परेशान कर रहा था, लड़की को मैसेज भेजे जा रहे थे। लड़की ने उसको अस्वीकार किया। बार-बार मना करने पर भी पवन नहीं माना। इसके बाद लड़की ने उसे आई हेट यू लिखकर मैसेज किया था। अंतिम मैसेज के आधार पर पवन सरोज की गिरफ्तारी की गई है।

आरोपी विवेचना में नहीं कर रहा सहयोग
उन्होंने बताया कि आरोपी विवेचना में सहयोग नहीं कर रहा है, लेकिन उसने दोस्तों संग मिलकर वारदात को अंजाम देने की बात स्वीकार की है। आरोपी पवन ने कुछ लोगों का नाम बताया है। लेकिन, वह बार-बार नाम बदल कर बता रहा है। हत्या में शामिल जो अन्य लोग हैं। उनके बारे में विवेचना जारी है। इनके कॉल डिटेल, डीएनए प्रोफाइलिंग के आधार पर अग्रिम कार्रवाई की जा रही है।

नामजद लोगों का मृतका पक्ष के भाई से था विवाद
ADG जोन ने बताया कि अभी तक जो नामजद हुए हैं, उनमें एक का विवाद मृतक पक्ष के भाई से था। उसे लेकर अभी कोई सबूत सामने नहीं आया है। इस पर अभी भी जांच चल रही है। सभी कॉल रिकार्ड, डीएनए की सैंपल के रिपोर्ट जल्द आएंगे। उसी के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

गोरी मैम के नाम से नंबर किया था सेव
पुलिस ने जब मृतका का मोबाइल देखा तो उसमें कुछ मैसेज मिले थे। उस मैसेज के आधार पर ही पवन सरोज को पकड़ा गया। आरोपी पवन पहले मैसेज न करने की बात करता रहा। लेकिन, जब पुलिस ने उसका फोन चेक किया तो पवन ने लड़की का नंबर गोरी मैम के नाम से सेव किया था।

बालिग है मृतका, बीए की छात्रा
ADG जोन प्रेम प्रकाश का कहना है कि मृतका के प्रमाण पत्र से सुबूत मिले हैं कि वह बालिग थी। बीए की छात्रा थी। मार्कशीट में उसकी जन्मतिथि जून 1996 दर्ज है। इस आधार पर पॉक्सो की धाराएं कम की जा रही हैं। इसमें बालात्कार की पुष्टि हो गई है। अभी तक जो रिपोर्ट आई है। उसमें ये सामने आया है कि रेप हुआ है, लेकिन कितने लोगों ने किया, इस बारे में मेडिकल ओपीनियन ली जा रही है।

आरोपी के शरीर पर पाए गए चोट के निशान
पोस्टमार्टम पैनल की रिपोर्ट के अनुसार महिला के अंगों पर जो काटने, मारने की कार्रवाई की गई है, वो एक युवक द्वारा की गई है। लेकिन, मां के साथ रेप की पुष्टि नहीं हुई है। आरोपी अनपढ़ है। इसके शरीर की जांच की गई तो उस पर कुछ चोटों के निशान हैं। शर्ट पर भी खून के छीटें मिले हैं।

Related posts