प्रयागराज में आयोजित एक्यूप्रेशर विशेषज्ञों के सम्मेलन में वर्चुअल शामिल हुए केंद्रीय राज्यमंत्री अश्विनी चौबे

प्रयागराज के झूंसी स्थित स्थित सरस्वती आश्रम में एक्यूप्रेशर शोध प्रशिक्षण एवं उपचार संस्थान के 23वें राष्ट्रीय सम्मेलन एवं एडवांस प्रशिक्षण कार्यक्रम में केंद्रीय उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं वितरण राज्य मंत्री अश्विनी चौबे वर्चुअल रूप से शामिल हुए। उन्होंने एक्यूप्रेशर पद्धति से जुड़े लोगों को आश्वासन दिया कि इस पद्धति को वह भारत सरकार से मान्यता दिलाने के लिए प्रयासरत हैं। लोकसभा में भी यह बता उठाई जाएगी। उन्होंने कहा कि यह एक ऐसी पद्धति है जो बिना किसी दवा के बीमारी को खत्म करने में सक्षम है।

कार्यक्रम में शामिल प्रदेश सरकार के कैबिनेट मंत्री महेंद्र सिंह ने स्व. माता प्रसाद खेमका की मूर्ति का अनावरण किया उन्होंने कहा कि गंगा के दर्शन मात्र से ही मुक्ति हो जाती है। गंगा के तट पर अगर यह संस्थान स्थित न होता तो, यहां पर अविरलता, स्वच्छता, निर्मलता, पारदर्शिता, समर्पण, सेवा, त्याग एवं बलिदान की भावना आ नहीं सकती थी। उन्होंने एक्यूप्रेशर विशेषज्ञों के इस कार्य के लिए सराहना भी की। महापौर अभिलाषा गुप्ता नंदी ने कहा कि मुझे एक बार माइग्रेन की समस्या हुई थी, जिसका इलाज इनके हाथों के द्वारा किया गयाद्। चलती फिरती दुनिया में बहुत सी ऐसी बीमारी है, जिसका एक्युप्रेशर के द्वारा आसानी से इलाज सम्भव है। यहां मंत्री व अन्य अतिथियों द्वारा विभिन्न पुस्तकों का विमोचन किया गया। कोरोना काल में भी लगातार अपना योगदान दे रहे लोगों को प्रमाणपत्र देकर सम्मानित किया।

Related posts