प्रयागराज में ओमिक्रॉन का बढ़ा खतरा : 24 घंटे में 31 नए मरीज मिले, सक्रिय मरीजों की संख्या 100 के पार

प्रयागराज में कोरोना व कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन का खतरा बढ़ गया है। शहर में कोरोना का संक्रमण बहुत तेजी से पांव पसार रहा है। विशेष रूप से शहरियों को सावधान रहने की जरूरत है क्योंकि शहरी क्षेत्र में ही कोरोना फैलने का खतरा ज्यादा है। बीते 24 घंटे में कोरोना के 31 नए मरीज मिले हैं, यह सभी मरीज शहरी क्षेत्र में मिले हैं। चिंता की बात यह है कि कोरोना के केस कई गुना तेजी से बढ़ रहे हैं। यदि इसी तरह लापरवाही बरती गई तो आने वाले समय में जल्द ही पूरा प्रयागराज कोरोना महामारी की चपेट में आ जाएगा। मंगलवार को कुल 9250 सैंपलों की जांच की गई जिसमें 31 मरीज मिलने के बाद स्वास्थ्य विभाग भी सतर्क हो चुका है।

शहर के घने इलाकों में कोरोना के मरीज ज्यादा

डॉ. गौरव के मुताबिक, मंगलवार को कोरोना के जो 31 मरीज मिले हैं वह शहर के अशोक नगर, सुलेम सराय, करेल, ड्रमंड रोड, धूमनगंज, रामनगर, झूंसी, खुल्दाबाद, रेलगांव,सिविल लाइंस, नैनी, मीरापुर, बेनीगंज और मेजा क्षेत्र के रहने वाले हैं।

जनवरी में सबसे ज्यादा मरीज

नए साल के पहले दिन से प्रयागराज में कोरोना का खतरा बढ़ गया है। एक जनवरी को 20 मरीज मिले थे। दो जनवरी को 19 मरीज, तीन जनवरी को 14 और चार जनवरी को फिर 31 मरीज मिले हैं। जबकि पिछले वर्ष यानी दिसंबर तक एक से पांच मरीज प्रतिदिन मिल रहे थे। डॉक्टरों का कहना है कि मास्क लगाकर ही घर से बाहर निकलें। प्रयास यही करें कि भीड़ में जाने से बचें।

Related posts