प्रयागराज में कोरोना अलर्ट : सुस्त पड़ा स्वास्थ्य विभाग फिर से अलर्ट मोड में, 3 दिनों तक विशेष अभियान

कोरोना की तीसरी लहर आने के संकेत मिलने लगे हैं। कोराेना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन की खौफ आमजन में दिखने लगा है। शासन स्तर से लेकर जिले का स्वास्थ्य महकमा एक फिर अलर्ट मोड में दिखने लगा है। कोरोना की तीसरी लहर से बचाव की तैयारियां तेज हो गई हैं। कोविड-19 के जिला नोडल अधिकारी व डॉ. अरूण कुमार तिवारी ने बताया कि प्रयागराज में आज यानी मंगलवार से कोरोना के लिए फोकस टेस्टिंग की शुरूआत हो रही है। यह तीन दिनों तक चलेगा। यानी कोरोना की जांच में और तेजी लाई जा जाएगी। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग की टीम इंजीनियरिंग कॉलेज, मेडिकल कॉलेज जैसे शिक्षण संस्थानों पर जाकर संबंधित लोगों की कोविड टेस्ट करेगी।

कोविड जांच की संख्या में की जा रही वृद्धि

शासन स्तर से निर्देश जारी किए गए हैं कि कोविड जांच की संख्या में और वृद्धि की जाए। प्रयागराज में इन दिनों 3500 से 4000 सैंपलों की प्रतिदिन जांच की जा रही है लेकिन राहत की बात यह है कि अभी कोविड के नए मरीज नहीं मिल रहे हैं। फिर भी विभाग की टीम आरटी-पीसीआर टेस्ट को लेकर और तेजी ला रही है। मंगलवार से फोकस टेस्टिंग शुरू होने के बाद जांच में तेजी आएगी।

दूसरे देश से आने वाले यात्रियों की एयरपोर्ट पर जांच

डॉ. एके तिवारी ने बताया कि हम लोग एयरपोर्ट पर भी सतर्कता बढ़ा दिए हैं। वहां स्वास्थ्य विभाग की टीम है। जो दूसरे देश से आ रहे हैं उनकी RTPCR कोविड टेस्ट कराई जा रही है। रिपोर्ट निगेटिव होने के बावजूद उन्हें कम से कम सात दिन होम क्ववांरटाइन में रखने को कहा जा रहा है। तीन दिन तक फोकस सैंपलिंग के बाद स्वास्थ्य कार्यकर्ता घर घर जाएंगे।

Related posts