प्रयागराज में कोरोना की रफ्तार और तेज, माघ मेले में फैला वायरस, चपेट में सुरक्षा बल

शहर में कोरोना संक्रमण जिस तेजी से फैल रहा है उसे देखते हुए हालात भविष्य के लिए भी अच्छे नहीं कहे जा सकते। माघ मेले में जिन पर कोरोना संक्रमितों या इसके संदिग्ध लोगों को जांच रिपोर्ट के आधार पर बाहर करने की जिम्मेदारी है वे सुरक्षा कर्मी खुद ही थोक के भाव पाजिटिव पाए जा रहे हैं। बुधवार को सर्वाधिक 379 संक्रमित मिले,  जिससे समझा जा सकता है कि केस तेजी से बढ़ रहे हैं।

खतरे की बात यह है कि माघ मेला में भी वायरस फैल गया है। नए मरीजों में तीन दर्जन तो माघ मेला क्षेत्र से रहे। मेला क्षेत्र में मिले संक्रमितों में अधिकांश पुलिस कांस्टेबिल, होमगार्ड, पीएसी जवान और एलआइयू के कर्मचारी हैं।ग्रामीण इलाकों में भी संक्रमण अब फैलने लगा है। शहर में तो कोरोना बम रोज ही फूटने लगा है। संक्रमितों की संख्या चौंकाने वाली है। दिनोंदिन बढ़ते संक्रमितों के चलते जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग को पसीने छूट रहे हैं। दिन भर बैठकों में बीत रहा है और कार्य योजनाओं पर देर रात प्रशासन के आला अधिकारी मंथन कर रहे हैं।

अधिवक्ता, पुलिस कर्मी, शिक्षक, इंजीनियर, चिकित्सक भी कोरोना से संक्रमित हो रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट बताती है कि कोरोना से बचाव शिक्षित और उच्च पदों पर आसीन लोग भी नहीं कर पा रहे हैं। बुधवार को माघ मेला क्षेत्र में खाकी वर्दी के बीच फैला संक्रमण इसका गवाह भी है कि कोरोना से बचने के लिए जागरूकता पर पानी फिर गया। सीएमओ डा. नानक सरन ने कहा है कि कोरोना संक्रमितों के इलाज की अस्पतालों में पूरी व्यवस्था है। संक्रमितों की हालत अभी ठीक है। इसलिए कंटेनमेंट जोन नहीं बनाए जा रहे हैं।

स्वास्थ्य विभाग के अफसर कोरोना के बढ़ते प्रभाव के चलते इस कदर परेशान हो गए हैं कि उन्हें रिकार्ड दर्ज करने में हो रही चूक भी नहीं दिख रही। दरअसल तीसरी लहर के दौरान अब तक जो भी लोग संक्रमित हुए उनमें 1546 सक्रिय केस हैं। यानी इतने लोगों में कोरोना का संक्रमण पाजिटिव है। इनमें अधिकांश लोगों को होम आइसोलेशन की सुविधा दी जा रही है। लेकिन स्वास्थ्य विभाग की दैनिक रिपोर्ट बता रही है कि अब तक 69074 लोगों को होम आइसोलेशन दिया गया। हालांकि चूक कहां हो रही है यह भी जानना आवश्यक है। यह आंकड़ा दरअसल पहली और दूसरी लहर के दौरान होम आइसोलेशन की अनुमति का मिलाजुला है लेकिन अधिकांश लोग स्वस्थ होकर निगेटिव हुए और अब अपने कामकाज में जुटे हैं लेकिन स्वास्थ्य विभाग के आंकड़े में होम आइसोलेशन अब भी चल रहा है।

शहर में कोरोना के केस काफी बढ़ गए हैं लेकिन परिस्थितियों को देखते हुए जिला प्रशासन अभी कंटेनमेंट जोन नहीं बना रहा है। हालांकि जो भी लोग संक्रमित मिल हैं उनकी हालत ज्यादा खराब नहीं हो रही है। लेवल वन, लेवल टू और लेवल थ्री कोविड अस्पताल में कम लोगों को ही भर्ती करने की नौबत आ रही है।

ऐसे बढ़ रहा कोरोना

चार जनवरी – 31

पांच जनवरी – 136

छह जनवरी – 70

सात जनवरी – 118

आठ जनवरी – 163

नौ जनवरी – 137

10 जनवरी – 220

11 जनवरी -273

12 जनवरी – 379

Related posts