प्रयागराज में पिछले 24 घंटे में डेंगू के 10 नए केस

प्रयागराज जनपद में डेंगू का प्रभाव खत्‍म नहीं हो पा रहा है। ठंड के आगमन के बाद भी मच्छरों की सक्रियता अभी भी बनी रहने से अभी असमंजस है। पिछले 24 घंटे में डेंगू के 10 नए मामले सामने आए हैं। डेंगू का प्रभाव तो कम हुआ लेकिन मरीजों के मिलने का सिलसिला जारी रहने के कारण मलेरिया व स्‍वास्‍थ्‍य विभाग भी हैरान हैं। उनकी सक्रियता में ढिलाई नहीं बरती जा रही है।

शहर के गोविंदपुर और सलोरी के निवासियों का पीछा डेंगू नहीं छोड़ रहा है। रोकथाम के प्रयास अब कहीं दिख भी नहीं रहे। जबकि मौसम पर ही डेंगू को खत्म करने का पूरा दारोमदार है। सलोरी और कौडि़हार में दो तथा अल्लापुर, बाई का बाग, राजापुर, गोविंदपुर, बहरिया और सोरांव में बुखार के एक-एक मरीजों में डेंगू पाया गया। इस तरह से जनपद में अब 1058 लोग डेंगू के प्रभाव में आ चुके हैं।

जिला मलेरिया अधिकारी आनंद कुमार सिंह ने बताया कि रोकथाम के प्रयास लगातार चल रहे हैं। एंटीलार्वा और पायरेथ्रम का छिड़काव हो रहा है। प्रभावित क्षेत्र में रह रहे लोगों से भी सहयोग की आवश्यकता है। उन्‍होंने लोगों से डेंगू के रोकथाम के लिए खुद भी प्रयास करने की अपील की है। कहा कि लोग अपने घरों में कहीं भी साफ पानी इकट्ठा न होने दें और जहां भी लार्वा दिखें उस पर मिट्टी का तेल डाल दें।

कोरोना वायरस संक्रमण की स्थितियों की देश के अन्य हिस्सों और विदेश से आ रही रिपोर्ट को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने ग्रामीण क्षेत्रों पर पूरा फोकस कर दिया है। अब ग्रामीण क्षेत्रों में केंद्रों और क्लस्टर केंद्रों में लाभार्थियों की भीड़ और शहरी केंद्रों में सन्नाटा है। लगातार तीन दिनों से प्रयागराज टीके लगाने में प्रदेश में अव्वल रहा। शुक्रवार को 60591 लोगों को टीके लगाए गए। स्वास्थ्य विभाग से जारी रिपोर्ट के अनुसार गुरुवार को जिले में 59815 और बुधवार को 53296 लोगों को टीके लगाए गए थे। इन तीनों ही दिन प्रयागराज की स्थिति प्रदेश के अन्य जिलों में सबसे ऊपर रही।

Related posts