प्रयागराज में बदलाव की बयार उप मुख्‍यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने किया शुभारंभ

धर्म अध्यात्म, न्याय, शिक्षा तथा साहित्य की नगरी प्रयागराज शनिवार यानी आज विकास की नई ऊंचाइयों को तय करने के लिए सार्थक संवाद का साक्षी बन रहा है।हाई कोर्ट के निकट होटल मिलेनियम इन में प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य दीप प्रज्वलन कर विमर्श का शुभारंभ किया। प्रबुद्ध जन इसके विभिन्न सत्रों में इस ऐतिहासिक शहर और इसके आसपास की गरिमा, अतीत का उल्लेख करते हुए आने वाले उम्मीदों भरे कल की रूपरेखा प्रस्तुत करेंगे।

श्रीराम से जुड़े सभी स्थानों को राम वन गमन पथ से जोड़ने का प्रयास : केशव मौर्य

इस अवसर पर डिप्‍टी सीएम केशव मौर्य बोले कि श्रीराम से जुड़े सभी स्थानों का विकास हो रहा है। सुंदर सड़कों से राम वन गमन पथ से जोड़ने का प्रयास है। बोले कि अयोध्‍या से चित्रकूट तक वाया कौशांबी राम वन गमन पथ तैयार किया जा रहा है। ऐसा फोरलेन ब्रिज का राजापुर में गंगा पर होगा। कोशिश की जा रही है कि उसका भी जल्द शिलान्यास हो। श्रीराम से जुड़े सभी स्थानों को सुंदर बनाने और सड़कों से राम वन गमन पथ से जोड़ने का प्रयास है।

बोले उप मुख्‍यमंत्री, प्रयागराज में चौतरफा हो रहा विकास

केशव मौर्य ने कहा कि प्रयागराज में चौतरफा विकास हो रहा है। गंगा जल को निर्मल और अविरल किया जा रहा है। कुंभ माघ मेला का बजट बढ़ाया गया। नए फ्लाई ओवर से विकास हुआ, जाम की समस्या दूर हुई और आवागमन सुगम हुआ। बोले कि आज एक और फ्लाईओवर का शिलान्यास कालिंदीपुरम में चौफटका कालिंदीपुरम रेल ओवरब्रिज का होगा। कहा कि फोरलेन हाइवे बनाया एयरपोर्ट से कौशांबी तक बनाया जा रहा है। राज्य और केंद्र सरकार की कोशिश है कि तेजी से विकास किया जाए। विकास में कोई भेदभाव नहीं किया जा रहा है। हर इलाके और क्षेत्र का विकास हो रहा है। डिप्‍टी सीएम से सवाल भी पूछे जा रहे हैं, जिसका उन्‍होंने समुचित उत्‍तर दिया।

संवाद का पहला सत्र ‘शिक्षा का केंद्र : कल आज और कल’ होगा

संवाद का पहला सत्र 11 बजे शुरू होगा, इसका विषय है ‘शिक्षा का केंद्र: कल आज और कल’। पूर्व राज्यपाल पं. केशरीनाथ त्रिपाठी, अध्यक्ष उत्तर प्रदेश उच्चतर शिक्षा परिषद गिरीश चंद्र त्रिपाठी, उप्र राजर्षि टंडन मुक्त विश्वविद्यालय की कुलपति प्रो. सीमा सिंह और जीबी पंत संस्थान के निदेशक बद्रीनारायण इस सत्र में अपने विचार रखेंगे।

दूसरा सत्र स्‍वास्‍थ्‍य पर होगा आधारित

दूसरा सत्र 11:45 बजे शुरू होगा। विषय है- ‘स्वास्थ्य का बुनियादी ढांचा-कितना सुधरा, कितना बाकी।’ कैंसर रोग विशेषज्ञ पद्मश्री डा. बी पाल, प्राचार्य मेडिकल कालेज डा. एसपी सिंह, अपर निदेशक (स्वास्थ्य) डा. प्रभाकर राय तथा विधायक (शहर उत्तरी) हर्षवर्धन बाजपेई इसमें बतौर पैनलिस्ट प्रतिभागी होंगे।

विमर्श का तीसरा सत्र उद्योग व कारोबार से संबंधित होगा

विमर्श का तीसरा सत्र-‘उद्योग-कारोबार की स्थिति और संभावनाएं।’ दोपहर 12:30 बजे से शुरू होगा। इसमें विनय कुमार टंडन, अध्यक्ष, चेम्बर आफ कामर्स, पवन जायसवाल, कास्ट एकाउंटेंट, कांग्रेस नेता व पूर्व विधायक अनुग्रह नारायण सिंह वक्ता होंगे।

चौथा सत्र राजनीतिज्ञों से संवाद का होगा

दोपहर 1:45 बजे से चौथा सत्र राजनीतिज्ञों से ‘संवाद’ का होगा। सांसद इलाहाबाद डा. रीता बहुगुणा जोशी, सांसद फूलपुर केशरी देवी पटेल के अलावा प्रदेश के कैबिनेट मंत्री नंद गोपाल गुप्त नंदी शहर को लेकर अपनी परिकल्पना साझा करेंगे।

साहित्‍य से जुड़ा होगा विमर्श का पांचवां सत्र

शहर की पहचान साहित्य से भी है। इसलिए दोपहर ढाई बजे से शुरू होने वाले पांचवें सत्र में इसकी चर्चा होगी। ‘साहित्य के क्षेत्र में प्रयागराज का योगदान’ विषयक सत्र में ङ्क्षहदुस्तानी एकेडमी के अध्यक्ष डा. उदय प्रताप सिंह, इलाहाबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय में हिंदी विभाग के पूर्व अध्यक्ष प्रो. मुश्ताक अली, साहित्यकार यश मालवीय, डा. श्लेष गौतम वक्ता होंगे।

छठां सत्र भी होगा रोचक

छठां सत्र भी रोचक है विषय रहेगा ‘संगम, पर्यटन और आशाएं।’ महापौर अभिलाषा गुप्ता नंदी, कमिश्नर संजय गोयल, जिलाधिकारी, संजय खत्री तथा एसएसपी सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी इस सत्र में होंगे। शाम चार बजे समापन सत्र शुरू होगा। कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह इसमें बदलते प्रयागराज और कल की चर्चा करेंगे।

Related posts