प्रयागराज हत्याकांड में पुलिस ने बदली अपनी ही थ्योरी, हिरासत में दो नए युवक

प्रयागराज के फाफामऊ के गोहरी गांव में दलित दंपती और उनके बेटे-बेटी की हत्या के मामले में पुलिस अब नई कहानी सामने लाई है। हत्याकांड में पुलिस की इस नई थ्योरी ने उसके अपने ही पहले के खुलासे को झूठा साबित कर दिया। पुलिस अफसरों का दावा है कि अब असली कातिल शिकंजे में आए हैं। पुलिस का अब दावा है कि हत्याकांड की कड़ी एक कोचिंग में मुलाकात से जुड़ रही है। पुलिस ने अब दो नए लोगों को मामले में उठा लिया है। 

पूरा दिन पुलिस उन्हें लेकर सबूत जुटाने में जुटी रही। नए तथ्यों में रिश्तों की कड़वाहट सामने आ रही है। पुलिस सूत्रों का कहना है कि शशि पटेल नाम के युवक और युवती में बातचीत होती थी। युवती अब युवक पर शादी का दबाव बना रही थी। वह युवक के घर तक पहुंच गई थी। कहा था कि शादी न करने पर घरवालों को बता देगी। पुलिस के पास जाएगी। इससे डरे युवक ने अपने मौसेरे भाई के साथ मिलकर हत्या की सनसनीखेज घटना अंजाम दिया। 

पहले के खुलासे में किरकिरी झेल चुकी पुलिस अब नई थ्योरी में पुख्ता सबूत के साथ सामने आना चाहती है। हालांकि अभी यह देखने वाली बात होगी कि साक्ष्य कितने दमदार हैं। फिलहाल शशि पटेल और उसका मौसेरा भाई पुलिस के शिकंजे में आ चुके हैं। अफसर उनसे पूछताछ कर रहे हैं। पुलिस की अब तक की जांच और पूछताछ में सामने आया है कि भोगी सरांय, शिवगुढ़ का शशि पटेल एक कोचिंग जाने के दौरान दलित दंपती की बेटी से मिला। 

दोनों के बीच मोबाइल पर लंबे समय तक बातचीत चलती रही। फिर शशि नौकरी करने दिल्ली चला गया। इसी बीच युवती और शशि के बीच कहासुनी हो गई। युवती शशि पर शादी का दबाव बनाने लगी। दोनों की बिरादरी अलग है, ऐसे में युवक उससे पीछा छुड़ाने की योजना बनाने लगा। उसने लड़की को रास्ते से हटाने की साजिश रची। मौसेरे भाई रजनीश पटेल को पूरा मामला बताया। 

रजनीश गोहरी के बगल लेहरा का है। शशि दिल्ली से आया लेकिन अपने घर नहीं गया। 21 नवंबर की देररात दोनों पीछे के रास्ते से घर में घुसे। आहट होने से मां जाग गई तो उसे मार दिया। अफरातफरी में सोते हुए पिता के सिर पर वार किया। इस दौरान युवती को पकड़कर भाई पर हमला कर उसे मार डाला। अंत में युवती की हत्या की गई। 

रेप एक ही युवक ने किया। शशि और रजनीश दोनों ही पुलिस की हिरासत में हैं। पुलिस ने उनकी निशानदेही पर रॉड बरामद की है। हत्या के इरादे से गए दोनों युवक रॉड लेकर आए थे। हालांकि इस मामले में एक तीसरे युवक के शामिल होने की बात भी आ रही है। उसकी भूमिका की पुलिस जांच कर रही है। 

बंद कर दी थी चैटिंग, दिल्ली में छोड़ आया था मोबाइल

हत्या की साजिश रचने के बाद शशि ने लड़की से चैटिंग बंद कर दी थी। वह कुछ दिनों से उससे बात नहीं कर रहा था। हालांकि दिल्ली से चलने से पहले उसने नए नंबर से कॉल कर मिलने की बात कही थी। अपना मोबाइल वह दिल्ली में छोड़ आया था ताकि पुलिस लोकेशन ट्रेस करे तो दिल्ली की मिले। 

पवन जेल गया तो रजनीश ने किया था मैसेज 

हत्याकांड का खुलासा करते हुए पुलिस ने पवन सरोज को जेल भेजा तो शशि और रजनीश को राहत मिली। इसके बाद रजनीश ने शशि को मोबाइल पर मैसेज किया कि घबराओ मत, पुलिस ने घटना खोल दी। अब हमारा कुछ नहीं होगा। इस मैसेज को पुलिस अहम साक्ष्य मान रही है।

साजिश सिर्फ लड़की की हत्या की थी

शशि और रजनीश से पूछताछ में साफ हुआ कि दोनों युवती को रास्ते से हटाना चाहते थे। उन्हें लगा था कि वह मर गई तो परेशानी खत्म। उसी की हत्या के मकसद से घर में घुसे थे। घर में घुसने के दौरान मां जागी तो उसे मारना पड़ा। फिर ऐसे हालात बने कि चारों का कत्ल कर दिया। 

Related posts