प्रयागराज : 24 घंटे में कोरोना से 416 लोग हुए संक्रमित

कोरोना वायरस का संक्रमण प्रयागराज में भी तेजी से फैल रहा है। शहर का लगभग सभी इलाके में संक्रमित मिल रहे हैं। इसके साथ ही एक माह तक लगने वाले माघ मेला में भी कोरोना संक्रमण की छाया है। यहां भी संक्रमितों का मिलना जारी है। पिछले 24 घंटे में 416 लोग संक्रमित हुए हैं। इनमें एसपी सिटी दिनेश कुमार सिंह भी शामिल हैं। माघ मेला क्षेत्र में पुलिस कर्मी भी कोरोना संक्रमित हुए हैं। ऐसे में डरने की नहीं बल्कि सावधानी बरतने की जरूरत है। कोविड-19 गाइडलाइन का पालन करने और मास्‍क पहनने की चिकित्‍सक सलाह दे रहे हैं।

प्रयागराज में अधिकांश लोग होम आइसोलेशन में ही रहते हुए अपना इलाज करा रहे हैं। लेवल टू और थ्री के कोविड अस्पतालों में 50 लोग भर्ती हैं, जबकि 30 पलंग वाले लेवल वन कोविड अस्पताल कोटवा एट बनी में दो दर्जन संक्रमित भर्ती हैं।

कोरोना की तीसरी लहर जिस तेजी से लोगों को संक्रमित कर रही है, उससे रोज चौंकाने वाले परिणाम आ रहे हैं। बीते 13 दिनों में कोरोना संक्रमण 20 गुना फैल गया। शहर के अधिकांश इलाके संक्रमण की गिरफ्त में हैं तो ग्र्रामीण क्षेत्र भी अब प्रभावित होने लगे हैं। वहीं स्वास्थ्य विभाग की माथापच्ची इसको लेकर ज्यादा है तो शहर के साथ उसे माघ मेले को भी सुरक्षित रखना है। गुरुवार को देर रात तक माघ मेले के सभी प्रवेश वाले रास्तों पर अधिकारियों की टीम डटी रही।

जिले में कोरोना वायरस के सक्रिय केस 1952 हो गए हैं। वहीं एक जनवरी तक सक्रिय केस 40 के अंदर ही थे। 10 लोगों को स्वस्थ होने पर डिस्चार्ज किया गया।

स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि कोरोना संक्रमण की जीन सीक्वेंसिंग के लिए केवल स्वरूपरानी नेहरू चिकित्सालय में भर्ती हो रहे संक्रमितों के सैंपल लखनऊ भेजे जा रहे हैं। इस जांच में यह पता लगना है कि संक्रमितों को ओमिक्रोन का संक्रमण है या नहीं।

कोरोना के नोडल डा. ऋषि सहाय का कहना है कि जितनों की जांच रिपोर्ट आई है, उनमें सभी की ओमिक्रोन रिपोर्ट नेगेटिव है। बताया कि जिन दो महिलाओं की एसआरएन में बीते दिनों मौत हुई, उनमें भी ओमिक्रोन का पता लगाने के लिए सैंपल भेजे गए थे लेकिन रिपोर्ट अभी नहीं प्राप्त हुई है।

Related posts