भव्य षोड्शी आयोजन के लिए तैयार हुआ बाघंबरी मठ

महंत नरेंद्र गिरि के षोड्शी भंडारे के लिए बाघंबरी मठ में भव्य तैयारी की गई है। देशभर से आने वाले साधु संतों के स्वागत के लिए रेड कारपेट बिछाया गया है। मठ के द्वार पर सुंदर गेट फूलों से सजाया गया है। साथ ही अंदर समाधि स्थल तक हर जगह कारपेट बिछा है।

बाघंबरी मठ में मंगलवार को महंत नरेंद्र गिरि का षोड्शी समारोह होना है। श्रीपंचायती अखाड़ा निरंजनी के पीठाधीश्वर स्वामी कैलाशानंद गिरि प्रयागराज पहुंच चुके हैं। मंगलवार को सभी कार्यक्रम उनकी मौजूदगी में कराए जाएंगे। इस दौरान आनंद पीठाधीश्वर स्वामी बालकानंद गिरि भी मौजूद रहेंगे। महंत नरेंद्र गिरि के समाधि स्थल के पास सोमवार दोपहर तक फूलों से सजावट की जा रही थी। आने वाले संतों को धूप में परेशान न होना पड़े, इसके लिए सभी जगह शामियाने लगा दिए गए हैं। कार्यक्रम दोपहर एक बजे से शुरू होगा, जो कि देर रात तक चलता रहेगा। इसलिए एलईडी बल्ब लगाए गए हैं। मठ के दूसरे छोर पर प्रयागराज और आसपास के जिले से आए रसोइयों ने काम संभाला। निरंजनी अखाड़े के सचिव महंत रविंद्र पुरी ने बताया कि भव्य षोड्शी आयोजन होगा। महंत नरेंद्र गिरि की पसंद के सभी व्यजंन भोजन में परोसे जाएंगे। इसकी तैयारी शुरू हो गई है। देश के कोने-कोने से 10 हजार से अधिक साधु-संत प्रयागराज आ रहे हैं। अधिकांश साधु-संत सोमवार रात तक प्रयागराज आ जाएंगे।

सभी को भेजा गया है न्योता

महंत रविंद्र पुरी ने बताया कि षोड्षी भंडारे के लिए सभी को न्योता भेजा गया है। इसमें प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी शामिल हैं। संत परंपरा में जितने भी आचार्य महामंडलेश्वर, महामंडलेश्वर, महंत, श्रीमहंत हैं, सभी यहां सादर आमंत्रित हैं।

खीर पर विशेष दिया जा रहा है ध्यान

महंत नरेंद्र गिरि के षोड्शी समारोह में पूड़ी, कचौड़ी, सब्जी, दाल, चावल आदि तो रहेगा ही। इस दौरान खीर पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। महंत नरेंद्र गिरि को जैसी खीर पसंद थी, उनके खास शिष्यों को ठीक वैसी ही खीर बनवाने का निर्देश दिया गया है। इसके लिए एक टीम लगातार निगरानी करेगी।

ढाई क्विंटल फूल आए

बाघंबरी मठ अच्छी तरह सजाने के लिए ढाई क्विंटल फूल आए हैं। सर्वाधिक गेंदा लाया गया है। प्रवेशद्वार से लेकर अंदर समाधि स्थल तक और फिर बाघंबर नाथ का मंदिर फूलों से अच्छी तरह सजाया जा रहा है। मंच पर भी अलग-अलग किस्म के फूल सजाए जाएंगे।

Related posts