संगमनगरी में चारों ओर धूल, धुआं और बेतहाशा शोर

संगमनगरी में भी धूल, धुआं और शोर का प्रदूषण बढ़ गया है। प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड भले ही दावा करे कि शहर में प्रदूषण नियंत्रण में है लेकिन शहर के कई सड़कों की स्थिति खराब हो रही है। धूल, धुआं और शोर के बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए शहर की 28 सड़कों को संवेदनशील चिह्नित किया गया है।

जिलाधिकारी संजय कुमार खत्री ने संवेदनशील सड़कों को हॉट स्पॉट घोषित करने के बाद सभी विभागों को प्रदूषण कम करने की जिम्मेदारी सौंपी है। निर्माणाधीन सड़कों पर धूल कम करने के लिए नियमित पानी छिड़काव करने के लिए जलकल विभाग को निर्देशित किया गया है। खुले आसमान के नीचे कूड़ा या पॉलीथिन जलाने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जिम्मेदारी नगर निगम के जोनल अधिकारियों को सौंपी गई है। शोर पर नियंत्रण का जिम्मा संभागीय परिवहन विभाग और यातायात पुलिस को सौंपा गया है।

पूरी व्यवस्था पर निगरानी के लिए नगर निगम के पर्यावरण अभियंता उत्तम कुमार वर्मा को नोडल अधिकारी बनाया गया है। नोडल अधिकारी उत्तम कुमार वर्मा ने बताया कि डीएम ने पूरे शहर में प्रदूषण पर निगरानी और नियंत्रण का निर्देश दिया है। लेकिन 28 हॉट स्पॉट पर विशेष निगरानी की जाएगी। नोडल अधिकारी के मुताबिक शिक्षा विभाग को प्रदूषण के प्रति जागरुक करने के लिए छात्रों की मदद लेने के लिए भी कहा गया है।

चिह्नित हॉट स्पॉट पर धूल का प्रकोप अधिक

प्रयागराज। प्रदूषण की दृष्टि से हॉट स्पॉट बनी ज्यादातर सड़कों पर धूल अधिक है। ये सड़कें चौड़ी की जा रही हैं। हालांकि प्रयागराज विकास प्राधिकरण ने सड़कों की धूल कम करने के लिए डामरीकरण शुरू कर दिया है। फिर भी पीडीए को भी सड़कों पर पानी का छिड़काव करने के लिए कहा गया है। .

शहर के 28 हॉट स्पॉट

नूरुल्ला रोड, ट्रांसपोर्टनगर, मास्टर जहरूल हसन मार्ग, शिवराम दास गुलाटी मार्ग, म्योर रोड प्रथम, म्योर रोड द्वितीय, कचहरी रोड, लाल बहादुर शास्त्री मार्ग, सरदार पटेल मार्ग, डॉ लोहिया मार्ग, क्लाइव रोड, स्ट्रेची रोड, कूपर रोड, ताशकंद मार्ग, टीबी सप्रू मार्ग, कमला नेहरू रोड (प्रथम), शोभनाथ सिंह रोड, कटरा रोड द्वितीय, मिशन रोड, हाशिमपुर रोड, मम्फोर्डगंज रोड, बाबी बिंदेश्वरी रोड, सुभाष नगर रोड, पन्नालाल रोड, बैंक रोड, सरोजनी नायडू मार्ग, कमला नेहरू रोड द्वितीय, पीडी टंडन मार्ग।

Related posts