उज्जैन : जहरीली शराब पीने से हुई 11 लोगों की मौत, टीआई सहित 4 पुलिसकर्मी सस्पेंड, शिवराज ने दिए SIT जांच के

चैतन्य भारत न्यूज

उज्जैन. मध्यप्रदेश के उज्जैन के तीन थाना क्षेत्रों में बुधवार सुबह से शाम तक 11 मजदूरों की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि इन मजदूरों की मौत जहरीली शराब पीने से हुई है। इस मामले में राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने घटना के 12 घंटे के अंदर जांच के आदेश दे दिए हैं।


जानकारी के अनुसार, ये मजदूर कहारवाड़ी इलाके से सस्ती झिंझर शराब खरीदकर पिया करते थे। छत्री चौक सराय के फुटपाथ पर बुधवार की सुबह सात बजे दो मजदूरों के शव मिले थे। पहले इन मजदूरों के साथियों को लगा कि वो सो रहे हैं लेकिन कुछ देर बाद उन्होंने जब जगाने की कोशिश की तो पता चला कि इनकी मौत हो गई है। इसके बाद यहां से कुछ दूर दो और मजदूर बेहोशी की हालत में मिले, जिन्हें अस्पताल पहुंचाया गया। बता दें कि बुधवार को पुराने शहर के खाराकुआं, महाकाल और कोतवाली थाना क्षेत्र के अलग-अलग इलाकों में छह मजदूर सहित सात लोगों की मौत हो गई थी। छत्री चौक, खाराकुआं गली, तेलीवाड़ा, बेगमबाग इलाके से मजदूरों के शव मिले थे। पोस्टमार्टम रिपोर्ट और पुलिस की जांच से पता चला कि मौतें जहरीली शराब पीने से हुई हैं।

बुधवार को सात लोगों की मौत के बाद गुरुवार सुबह नृसिंह घाट और ढाबा रोड क्षेत्र में दो और शव मिले थे। वहीं दोपहर में दो लोगों की अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई। मृतकों में 10 मजदूर हैं- ये सभी फुटपाथ आदि स्थानों पर रहते थे। वहीं एक व्यक्ति ठेला लगाता था। मामले में आठ आरोपितों को गिरफ्तार किया गया है। खाराकुआं थाना प्रभारी एमएल मीणा, एसआइ, निरंजन शर्मा, आरक्षक शेख अनवर और नवाज शरीफ को निलंबित कर दिया गया है।

Related posts