इस बच्चे ने 12 साल की उम्र में लिख डाली 135 किताबें, 4 वर्ल्ड रिकॉर्ड किए अपने नाम

mragendra raj,12 year writer mragendra raj

चैतन्य भारत न्यूज

जिस उम्र में बच्चों के पढ़ने-लिखने की शुरुआत ही होती है उसी उम्र में एक बच्चे ने 135 किताबें लिख डाली। जी हां… सुनकर भले ही आपको हैरानी हो रही हो लेकिन यह सच है। उत्तरप्रदेश के एक 12 साल के बच्चे ने ये अनोखा कारनामा कर दिखाया है, जिसके बाद से ही देशभर में उसकी चर्चा की जा रही है।

मृगेन्द्र राज ने 6 साल की उम्र से ही लिखना शुरू कर दिया था। इन 6 सालों में उन्होंने 135 किताबें लिख दी जिनमें धर्म और जीवनी से जुड़ी किताबें शामिल हैं। इस बच्चे ने उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत और भी कई प्रसिद्ध हस्तियों की जीवनी जैसे विषयों पर अब तक 135 किताबें लिखी हैं। उनकी पहली पुस्तक कविताओं पर आधारित है। मृगेन्द्र लेखक के तौर पर ‘आज का अभिमन्यु’ नाम का इस्तेमाल करते हैं। उनके नाम पहले से ही चार वर्ल्ड रिकॉर्ड हैं।

मृगेन्द्र ने कहा कि, ‘मैंने रामायण के 51 पात्रों का विश्लेषण करने के बाद किताबें लिखी हैं। मेरी प्रत्येक पुस्तक 25 से 100 पृष्ठों की होती है। मुझे डॉक्टरेट के लिए लंदन में वर्ल्ड यूनिवर्सिटी ऑफ रिकॉर्ड्स से भी ऑफर मिला है।’ मृगेन्द्र की मां सुल्तानपुर में एक प्राइवेट स्कूल में टीचर है। उन्होंने कहा, ‘मेरे बेटे ने लेखन में रूचि विकसित की और मैंने उसे प्रोत्साहित किया।’ मृगेन्द्र के पिता प्रदेश के चीनी उद्योग और गन्ना विकास विभाग में कर्मचारी हैं। मृगेन्द्र ने अपने भविष्य के बारे में बात करते हुए बताया कि, बड़े होकर वह लेखक बनना चाहते हैं। वह अलग-अलग विषयों और शैलियों पर अधिकतम संख्या में किताबें लिखेंगे।

Related posts