13 साल के बच्चे ने पीएम मोदी को लिखी 37 चिट्ठियां, कहा- मेरे पापा को फिर से नौकरी पर रख लीजिए

sarthak tiwari,pm modi,

चैतन्य भारत न्यूज

कानपुर. कहते हैं बच्चों की जिम्मेदारी मां-बाप के कंधों पर होती है। लेकिन एक बेटे ने तो 13 वर्ष की उम्र में ही पिता की नौकरी की जिम्मेदारी अपने कंधो पर ले ली। इस बच्चे को अपने पिता की जिम्मेदारियों की और साथ ही अपने भविष्य की इतनी चिंता हुई कि उसने अपने पिता को फिर से नौकरी पर रखने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखकर अनुरोध किया है। उत्तर प्रदेश के कानपुर के रहने वाले सत्यजीत विजय त्रिपाठी के बेटे सार्थक त्रिपाठी ने पीएम मोदी को अब तक एक या दो नहीं बल्कि 37 चिट्ठी लिखी है।

सार्थक की उम्र महज 13 साल है लेकिन वह अभी से अपनी जिम्मेदारियां संभालने लगे हैं। बता दें सार्थक के पिता उत्तर प्रदेश स्टॉक एक्सचेंज में कर्मचारी थे। साल 2016 में उन्हें नौकरी से बेदखल कर दिया गया था। शुक्रवार को सार्थक ने पीएम मोदी को 37वीं चिट्ठी भेजी है। सूत्रों के मुताबिक, सार्थक ने कहा कि, ‘मैंने मोदी बाबा जी से अपने पिता की मदद करने की प्रार्थना की है। मेरे पिता को स्टॉक एक्सचेंज के लोगों ने नौकरी छोड़ने को कहा था। मेरा मानना है कि मेरी चिट्ठियों की वजह से मेरे पिता को जान से मारने की धमकियां मिल रही हैं। वो लोग मेरे पिता और मेरे परिवार को जान से मार देना चाहते हैं।’

जानकारी के मुताबिक, सार्थक साल 2016 से लगातार पीएम मोदी को मदद के लिए चिट्ठियां लिख रहे हैं। इन चिट्ठियों में वह अपने घर की परेशानियों के बारे में विस्तार से लिखते हैं। सार्थक चाहते हैं कि,जो भी लोग उनके पिता को धमकी दे रहे हैं उन्हें कड़ी से कड़ी सजा मिले। इस बार सार्थक ने चिट्ठी में पीएम मोदी को दूसरी बार प्रधानमंत्री बनने की बधाई देते हुए लिखा कि, ‘मैंने कई लोगों के मुंह से सुना है, मोदी है तो मुमकिन है। इसीलिए मैं पीएम मोदी से प्रार्थना करता हूं कि मेरी मुश्किल के बारे में भी सुनें।’ खैर, अब देखना तो यह होगा कि पीएम मोदी इस बच्चे की किस तरह मदद करते हैं।

Related posts