178 साल पुरानी ट्रैवल कंपनी थॉमस कुक हुई दिवालिया, 6 लाख पर्यटक फंसे, 22 हजार बेरोजगार

thomas cook

चैतन्य भारत न्यूज

लंदन. कई सालों से पर्यटकों को विविध प्रकार की सेवाएं देने वाली ब्रिटेन की दिग्गज ट्रैवल कंपनी थॉमस कुक ने खुद को दिवालिया घोषित कर दिया है। कंपनी की इस घोषणा से 22 हजार लोग बेरोजगार हो गए हैं। थॉमस कुक के बंद होने से दुनियाभर में 6 लाख पर्यटक फंस गए हैं। इनमें से 1.5 लाख यात्री ब्रिटेन के हैं। ये सभी यात्री कंपनी के पैकेज पर दुनिया के अलग-अलग हिस्सों की यात्रा पर हैं। बता दें इस कंपनी की सभी उड़ाने रद्द हो गई हैं और अब ब्रिटेन की सरकार अपने सभी यात्रियों को वापसी लाने की कोशिश में लगी हुई है।



178 साल पुरानी थॉमस कुक कंपनी पर करीब 15 हजार करोड़ रुपए का कर्ज है। कंपनी को आगे बढ़ाने के लिए 1766 करोड़ रुपए की तत्काल जरूरत थी, लेकिन थॉमस कुक आपातकालीन धन जुटाने में असफल रही, जिसके बाद कंपनी के पास दिवालिया की अर्जी दाखिल करने के अलावा उनके पास कोई चारा नहीं था। बता दें थॉमस कुक कंपनी हर साल 16 देशों में 19 करोड़ लोगों को होटल, रिसॉर्ट और एयरलाइन सर्विस मुहैया करवा रही थी।

बता दें साल 1841 में थॉमस कुक ने ट्रैवल कंपनी शुरू की थी। उस समय यह कंपनी ट्रेन से लोगों को अलग-अलग शहरों में घुमाने की व्यवस्था करती थी। फिर इस कंपनी ने विदेश यात्रा करवानी भी शुरू कर दी। थॉमस कुक पहला ऐसा टूर ऑपरेटर है जो ब्रिटेन के लोगों को यूरोप में यात्रा मुहैया कराता था। धीरे-धीरे कर इस कंपनी ने एक बड़े टूर ऑपरेटर का रूप ले लिया। इस कंपनी के करीब 100 विमान है और यह हर साल 2 करोड़ यात्रियों को सेवा मुहैया कराती रही।

भारत पर नहीं होगा असर

कंपनी ने एक बयान जारी कर कहा कि, थॉमस कुक की वित्तीय स्थिति मजबूत है। बता दें साल 2012 में थॉमस कुक इंडिया का 77 फीसदी हिस्सा कनाडा के ग्रुप फेयरफैक्स फाइनेंशियल होल्डिंग ने खरीद लिया था। इसके बाद से ही थॉमस कुक यूके का थॉमस कुक इंडिया में कोई हिस्सा नही है। इसलिए कंपनी के दिवालिया होने पर इसका भारत पर कोई असर नहीं पड़ेगा।

Related posts