तमिलनाडु : 100 फीट नीचे बोरवेल में फंसे 2 साल के मासूम की मौत, दो हिस्सों में निकाला गया शव

borewell

चैतन्य भारत न्यूज

चेन्नई. तमिलनाडु के तिरुचिरापल्ली जिले के नाडुकट्टुपत्ती गांव में एक खुले हुए गहरे बोरवेल में गिरा दो साल का मासूम आखिरकार जिंदगी से जंग हार गया। सुजीत विल्सन नाम के बच्चे की मौत की जानकारी सरकारी अधिकारियों ने दी। बच्चे के शव को बोरवेल से बाहर निकालकर मनाप्पराई सरकारी अस्पताल भेजा गया था। अब बच्चे का शव उसके घर पहुंचा दिया गया है।



जानकारी के मुताबिक, सुजीत विल्सन शुक्रवार यानी 25 अक्टूबर की दोपहर अपने घर पीछे खेलते रहा था और इस दौरान वो एक गहरे बोरवेल में गिरकर 30 फीट की गहराई में जाकर फंस गया था। फिसलते-फिसलते बच्चा करीब 100 फीट तक की गहराई में चला गया था। रेस्क्यू टीम ने पहले कहा था कि, बच्चे को निकालने में आधा दिन का और वक्त लग सकता है, लेकिन मंगलवार तड़के बोरवेल के अंदर से दुर्गंध आने लगी। बच्चे के शव को निकालने से पहले तमिलनाडु सरकार के एक अधिकारी ने बच्चे का शरीर गलने की अवस्था में बताया था। परिवहन विभाग के प्रमुख सचिव जे. राधाकृष्णन ने बताया था कि, ‘बच्चे का शरीर अब गलने की अवस्था में है। हमने उसे बचाने की पूरी कोशिश की, लेकिन ये दुखद है कि जिस बोरवेल में बच्चा गिरा था उससे अब बदबू आने लगी है।’


एनडीआरएफ कमांडर जितेश टीएम ने बताया कि, ‘बच्चों को निकालने में देरी खराब मौसम और भूगर्भीय स्थिति की वजह से हुई।’ उन्होंने यह भी कहा कि, ‘बच्चे का शरीर इतनी बुरी तरह गल गया था कि कुछ हिस्से को दोबारा निकाला गया।’ बता दें बच्चे को बचाने के लिए राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (NDRF) और राज्य आपदा मोचन बल (SDRF) का बचाव अभियान लगातार चार दिन से जारी था।

ये भी पढ़े…

150 फीट गहरे बोरवेल में गिरा था दो साल का बच्चा, 109 घंटे बाद बाहर निकाला गया, नहीं बची जान

VIDEO : खुले गटर में गिरा डेढ़ साल का मासूम, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी, लोगों ने BMC पर निकाला गुस्सा

Related posts