आज दिखाई देगा साल का पहला ‘सुपरमून’, 30% चमकीला और 14% बड़ा दिखाई देगा चांद

supermoon

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. आज साल 2020 का पहला सुपरमून दिखाई देगा। सुपरमून के समय चांद का आकार पहले से ज्यादा बड़ा और चमकदार नजर आता है। पश्चिमी देशों के वैज्ञानिकों ने इसे ‘स्नो मून’ का नाम दिया गया है। आइए जानते हैं सुपरमून से जुड़ी कुछ खास बातें-

  • पृथ्वी से चंद्रमा की सामान्य दूरी 4,06,692 किलोमीटर है। इसे अपोजी कहते हैं। पृथ्वी से चंद्रमा की न्यूनतम दूरी 3,56,500 किलोमीटर होती है। इस पेरिजी कहते हैं। जिस समय चंद्रमा और पृथ्वी के बीच की दूरी सबसे कम होती उसी दिन आसमान में सुपरमून नजर आता है।
  • सुपरमून के समय चांद अपने सामान्य आकार से ज्यादा बड़ा और चमकदार दिखाई देता है। इस दिन चंद्रमा अपने आकार में करीब 14% बड़ा दीखता है और इसकी चमक करीब 30% ज्यादा होती है।
  • नासा के मुताबिक, सुपरमून का अस्तित्व पहली बार साल 1979 में सामने आया था। एस्ट्रोनॉमर्स ने इसे ‘पेरीजीन फुल मून’ कहा था।
  • आज दिखाई देने वाले सुपरमून के बाद 2020 के आखिरी सुपरमून मार्च, अप्रैल और मई के महीने में भी दिखाई दे सकते हैं।
  • नासा के वैज्ञानिकों ने कहा कि, शुक्रवार शाम से लेकर सोमवार शाम तक आसमान में पूरा चांद नजर आएगा।
  • भारत में रविवार शाम को सुपरमून दिखाई दे सकता है। हालांकि इसका निश्चित समय नहीं बताया गया है।
  • आज दिखने वाले सुपरमून को आप लाइव स्ट्रीमिंग के जरिए ऑनलाइन भी देख सकते हैं। नासा समेत कई वेबसाइटों पर इसे ऑनलाइन देखने की सुविधा होगी।

ये भी पढ़े…

149 साल बाद दिखा चंद्रग्रहण का ऐसा अद्भुत नजारा, देखें तस्वीरें

चंद्रग्रहण 2019 : जानिए क्या होता है आंशिक चंद्रग्रहण, इस दौरान क्या करें और क्या न करें

Related posts