31 मार्च को खत्म हो रही थी इन 6 जरुरी कामों की डेडलाइन, सरकार ने दी 30 जून तक की मोहलत

aadhar pan card

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. 31 मार्च का दिन वित्तीय कामकाज के लिए सबसे अहम होता है। 31 मार्च को कई जरुरी कामों की अंतिम तिथि खत्म होती है। इस वजह से लोग भी इस तारीख से पहले अपने सभी जरुरी काम निपटा लेते हैं। लेकिन इस बार मामला थोड़ा अलग है। कोरोना वायरस के बढ़ते कहर के कारण पूरे देश को 21 दिनों के लिए लॉकडाउन कर दिया गया है। इस वजह से आम जनता के लिए 31 मार्च के दिन की अहमियत कुछ कम रह गई है।

लॉकडाउन के कारण जनता 31 मार्च तक जरुरी काम नहीं पूरे सकी। ऐसे में सरकार ने डेडलाइन बढ़ाकर 30 जून तक कर दी है। यानी जो काम 31 मार्च तक निपटाने थे उन्हें अब आप 30 जून तक पूरा कर सकते हैं। आइए जानते हैं कौन-कौन से जरुरी कामों की अंतिम तिथि आगे बढ़ा दी गई है।

  • आधार कार्ड को पैन कार्ड से लिंक करने की आखिरी तारीख बढ़कर अब 30 जून 2020 हो गई है। जानकारी के मुताबिक, अब तक देश के करीब 17 करोड़ लोगों ने आधार और पैन कार्ड को लिंक नहीं कराया है।
  • वित्त वर्ष 2018-19 के लिए इनकम टैक्स रिटर्न फाइल (ITR) करने की आखिरी तारीख अब तक 31 मार्च थी जिसे अब बढ़ाकर 30 जून कर दिया गया है। बता दें 1 सितंबर 2019 से 31 दिसंबर 2019 तक रिटर्न फाइल करने पर अधिकतम जुर्माना 5000 रुपए था। 1 जनवरी से 31 मार्च 2020 तक रिटर्न फाइल करने पर अधिकतम जुर्माना 10 हजार रुपए तय किया गया था। लेकिन अब इसकी डेडलाइन 30 जून तक बढ़ गई है। हालांकि जुर्माने में भी मामूली राहत मिली है।
  • केंद्र सरकार कारोबारियों को भी राहत देते हुए वस्तु एवं सेवा कर (GST) रिटर्न जमा करने की समय सीमा बढ़ाकर 30 जून कर दी गई है। यानी अब आप मार्च, अप्रैल और मई महीने का जीएसटी रिटर्न 30 जून 2020 तक भर सकते हैं। साथ ही सरकार ने कंपोजीशन स्कीम का विकल्प चुनने की तारीख भी बढ़ाकर 30 जून कर दी है।
  • ‘विवाद से विश्वास’ योजना को भी सरकार ने 30 जून कर दिया गया है। अब 30 जून तक इसमें कोई अतिरिक्त चार्ज नहीं लगेगा। बता दें कि इस सरकारी योजना का उद्देश्य उन लोगों को राहत देना है जिनकी टैक्स देनदारी को लेकर कई तरह का विवाद है।
  • ड्राइविंग लाइसेंस, परमिट और रजिस्ट्रेशन जैसे दस्तावेज की भी वैधता बढ़ा दी गई है। यह उन लोगों पर लागू होगा जिनके ड्राइविंग लाइसेंस की वैधता 1 फरवरी को खत्म हो चुकी है।
  • अब डीलर बीएस-4 वाहनों को लॉकडाउन खत्म होने के बाद 10 दिन के अंदर यानी कि 25 अप्रैल तक बेच सकते हैं। कुछ दिनों पहले सुप्रीम कोर्ट ने इस संबंध में आदेश भी दिया था कि, ‘डीलर सिर्फ 10 फीसदी बीएस-4 वाहनों को लॉकडाउन खत्म होने के बाद 10 दिन के भीतर बेच सकते हैं।’ पहले बीएस-4 वाहनों की बिक्री और रजिस्ट्रेशन की अंतिम तारीख 31 मार्च 2020 थी।

Related posts