महाराष्ट्र : मुख्यमंत्री बनते ही उद्धव को बड़ा झटका, बीजेपी में शामिल हुए 400 शिवसैनिक

shivsena

चैतन्य भारत न्यूज

मुंबई. महाराष्ट्र में लंबे जद्दोजहद के बाद आखिरकार शिवसेना ने नेशनल कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) और कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार बनाई। लेकिन अब शिवसेना को तगड़ा झटका लगा है। सूत्रों के मुताबिक, शिवसेना के करीब 400 कार्यकर्ताओं ने बीजेपी (BJP) का दामन थाम लिया है।


शिवसेना से नाराज ज्यादातर शिवसैनिक

बुधवार को मुंबई के धारावी में करीब 400 शिवसैनिक ने पार्टी छोड़ दी है और वे सभी बीजेपी में शामिल हो गए। बीजेपी में शामिल होने वाले एक कार्यकर्ता रमेश नाडार ने कहा कि, ‘शिवसेना ने भ्रष्ट और हिंदू विरोधी दलों के साथ हाथ मिला लिया है। इससे हम नाराज हैं।’ साथ ही कार्यकर्ताओं ने शिवसेना पर सिर्फ सरकार बनाने के लिए महाविकास आघाड़ी में शामिल होने का आरोप लगाया। उन्होंने यह भी बताया कि, ‘कई और कार्यकर्ता भी हैं जो शिवसेना से नाराज हैं।’ उन सभी का कहना है कि, पिछले 7 साल से वे लोग एनसीपी और कांग्रेस के खिलाफ लड़ रहे थे। चुनाव के दौरान वे लोगों के घर-घर जाकर वोट मांगते थे और अब जब शिवसेना ने उसी कांग्रेस और एनसीपी के साथ मिलकर सरकार बना ली है तो वे उन लोगों से कैसे नजरें मिला पाएंगे जिनसे उन्होंने ईमानदार सरकार बनाने के लिए वोट मांगे थे।

बीजेपी से तोड़ी 30 साल पुरानी दोस्ती

बता दें 24 अक्टूबर को महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के नतीजे आए थे, जिसमें बीजेपी 105 सीटें जीतकर सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी। जबकि शिवसेना को 56 सीटें, एनसीपी को 54 और कांग्रेस को 44 सीटें मिली। लेकिन गठबंधन तहत बीजेपी और शिवसेना के बीच मतभेद हो गया। शिवसेना ने बीजेपी के सामने मुख्यमंत्री पद के लिए 50-50 फॉर्मूले की मांग रखी थी, जिससे बीजेपी ने इनकार कर दिया था। इसके चलते शिवसेना ने बीजेपी से अपनी 30 साल पुरानी दोस्ती खत्म कर ली। फिर शिवसेना ने एनसीपी और कांग्रेस के साथ महागठबंधन कर नई सरकार बना ली। पिछले हफ्ते ही मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने विधानसभा में अपना बहुमत साबित किया था। शिवसेना को 169 विधायकों का समर्थन मिला।

ये भी पढ़े…

महाराष्ट्र: बीजेपी ने वापस लिया अपने उम्मीदवार का नाम, कांग्रेस के नाना पटोले चुने गए विधानसभा स्पीकर

महाराष्ट्र : बहुमत परीक्षण से पहले कांग्रेस ने कर दी डिप्टी CM पद की मांग

फडणवीस सरकार महाराष्ट्र पर छोड़ गई 4.7 लाख करोड़ का कर्ज! कैसे निपटारा करेंगे सीएम उद्धव ठाकरे

Related posts