तमिलनाडु में खुदाई में मिली 2600 साल पुरानी दीवार

diwar

चैतन्य भारत न्यूज

मदुरई. तमिलनाडु के शिवगंगा जिले के किलाड़ी में केंद्रीय पुरातत्व सर्वेक्षण द्वारा की जा रही खुदाई में 2600 साल पुरानी संगम सभ्यता से जुड़ी एक दीवार मिली है। दीवार चार ईंटों से बनी है। केंद्रीय पुरातत्व सर्वेक्षण द्वारा 2015 से यहां उत्खनन करवाया जा रहा है।



वैगई नदी के तट पर स्थित इस गांव में चल रहे उत्खनन में अब तक कलाकृतियों समेत 14,500 वस्तुओं का पता लगा है। कार्बन डेटिंग (कार्बन क्षय द्वारा उम्र का पता लगाने की विधि) से पता चला है कि यह संगम सभ्यता की हो सकती है। यहां मिल रही चीजों को सुरक्षित रखने के लिए राज्य सरकार ने बजट भी दिया है। पुरातत्व महत्व की इतनी चीजों के मिलने से स्थानीय नागरिक भी बहुत खुश हैं।

उनके मुताबिक 2000 साल पहले की सभ्यता की खोज को देखकर हम तमिलों को गर्व महसूस हो रहा है। पहले लोग इस जगह के से अनजान थे लेकिन ऐसी खोज होने के बाद इसका महत्व बढ़ेगा। इस जगह पर  उत्खनन का दूसरा चरण 2016 में और तीसरा चरण 2017 में चला। इसके बाद विभिन्न दलों द्वारा उत्खनन का काम जारी रखने के दबाव के चलते तमिलनाडु सरकार को चौथा चरण 2018 में शुरू करवाना पड़ा।  फिलहाल खुदाई का पांचवां चरण चल रहा है। 27 सितंबर को द्रमुक अध्यक्ष एमके स्टालिन ने किलाडी पुरातत्व स्थल का दौरा भी किया है।

Related posts