75% हिन्दुओं का मानना- देश में शांति से रह सकते हैं सभी धर्म, कई लोगों ने मुस्लिमों को बताया राष्ट्रवादी

all religion,hindu,muslim,social media

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. भारत के मौजूदा राजनीतिक माहौल में लोगों पर स्मार्टफोन और सोशल मीडिया का प्रभाव मापने के लिए सेंटर फॉर स्टडीज ऑफ डेवलपिंग सोसाइटीज (सीएसडीएस) की ओर से एक सर्वे किया गया। इस सर्वे में यह सामने आया कि, देश के तीन चौथाई यानी 75 प्रतिशत हिन्दू सोशल मीडिया यूजर्स का मानना है कि हमारे देश में सभी धर्मों के लोग शांति से साथ में रह सकते हैं।

सर्वे के मुताबिक, सोशल मीडिया का इस्तेमाल नहीं करने वाले 73 प्रतिशत लोगों का मानना है कि भारत में सभी धर्म एक समान है। 19 प्रतिशत सोशल मीडिया यूजर्स और 17 प्रतिशत नॉन सोशल मीडिया यूजर्स का मानना है कि भारत सिर्फ हिन्दुओं का देश है। सर्वे में यह सामने आया कि, सोशल मीडिया का अधिक प्रयोग करने वाले 28 प्रतिशत लोगों का मानना है कि मुस्लिम बहुत राष्ट्रवादी होते हैं। इस बारे में 15 प्रतिशत लोगों की राय बिलकुल उलटी थी। वहीं सोशल मीडिया का प्रयोग नहीं करने वाले 21 प्रतिशत लोग मानते हैं कि मुस्लिम बहुत राष्ट्रवादी होते हैं। 12 प्रतिशत सोशल मीडिया का प्रयोग न करने वाले लोगों की राय इससे विपरीत है।

26 राज्यों में किया गया सर्वे

यह सर्वे इस साल अप्रैल से मई महीने के बीच किया गया। सर्वे में 26 राज्यों के 211 संसदीय क्षेत्रों के लोग शामिल थे। सर्वे में 24,236 लोगों से बातचीत की गई। सोशल मीडिया पर किए गए इस सर्वे के मुताबिक, करीब 75 प्रतिशत हिन्दू लोग यह मानते हैं कि भारत में सभी धर्म बराबर है। 19 प्रतिशत लोगों ने अलग राय रखी। रिपोर्ट्स में कहा गया है कि, सोशल मीडिया एक ऐसा स्थान है जहां लोगों को अपने विचारों को व्यक्त करने का मौका मिलता है। सोशल मीडिया उस विश्वास को आगे बढ़ाने में मदद करता है जो लोगों में कुछ हद तक पहले से मजबूत होते हैं। ट्विटर का रोजाना प्रयोग करने वाले 23 प्रतिशत यूजर्स की भी यही राय है कि, मुस्लिम अत्यधिक राष्ट्रवादी होते हैं।

Related posts