चिंताजनक: देश में 80% कोरोना वायरस के मरीजों में नहीं दिखे संक्रमण के लक्षण- ICMR

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. भारत में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, देश में पिछले 24 घंटे में 1553 नए कोरोना के मामले दर्ज किए गए हैं, जबकि 36 लोगों की मौत हुई है। इसी के साथ देशभर में कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों की संख्या 17,262 तक पहुंच गई है। चिंता का विषय यह है कि देश में 80 प्रतिशत कोरोना के मरीजों में संक्रमण के लक्षण नहीं नजर आए।

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) के एक वरिष्ठ वैज्ञानिक आर गंगाखेड़कर ने बताया कि, कोरोना वायरस से निपटने के लिए देश में हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं। लेकिन चिंता की बात यह है कि अब तक सामने आए पॉजिटिव मामलों में से 80 फीसदी मामले ऐसे हैं, जिनमें कोई संक्रमण के लक्षण नहीं दिखाई दिए। गंगाखेड़कर ने बताया कि, इस तरह के मामलों का पता लगाना बेहद कठिन है। ऐसे मामलों को पता लगाने का एक ही जरिया है और वो है कोरोना संक्रमित मरीजों के संपर्क में आए लोगों का पता लगाना। यदि यह तरीका नहीं अपनाया जाता है तो मुश्किल खड़ी हो सकती है। इस समय सरकार के निर्देश का पालन करना बेहद जरूरी है।

जानकारी के मुताबिक, यदि किसी व्यक्ति को खांसी, जुकाम या तेज बुखार होता है तो उसे कोरोना वायरस का मरीज मानकर तुरंत ही आइसोलेट किया जा रहा था। लेकिन आपको बता दें पिछले 24 घंटे में राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस से संक्रमण के जितने भी मामले आए हैं, उनमें से किसी भी मरीज के अंदर खांसी, बुखार जैसे कोई भी लक्षण दिख नहीं रहे हैं। ऐसे में आशंका जताई जा रही है कि दिल्ली में ऐसे मरीजों की संख्या ज्यादा हो सकती है।

इसे लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने चिंता जताने हुए कहा है कि, ‘यह स्थिति बेहद खतरनाक है कि दिल्ली में बहुत सारे लोग कोरोना संक्रमित हो कर घूम रहे हैं, लेकिन उनको पता नहीं है।’ उन्होंने यह भी कहा कि, ‘दिल्ली में कोरोना संक्रमण के मामलों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। शनिवार को जिन 736 मामलों की रिपोर्ट आई है, उनमें से 186 लोग संक्रमित पाए गए।’

Related posts