अंधविश्वास : राजस्थान में एक तांत्रिक ने 10 साल की बच्ची को जिंदा जलाया, फिर कर ली आत्महत्या

tantrik

चैतन्य भारत न्यूज

हमारे देश में अंधविश्वास ने इस कदर जड़े जमा रखी है कि तमाम प्रयासों के बाद भी लोगों की मानसिकता बदलने का नाम नहीं ले रही है। आज हम आपको अंधविश्वास का एक ऐसा मामला बताने जा रहे हैं जिस पर आप यकीन नहीं कर पाएंगे। दरअसल राजस्थान के बाड़मेर जिले में एक तांत्रिक ने तंत्र विद्या के चलते पहले तो 10 साल की बच्ची को जलाया और फिर खुद आत्महत्या कर ली। घटना के बाद से पूरे इलाके में सनसनी फैल गई है।

सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और वहां का जो नजारा देखा पुलिस भी सन्न रह गए। क्योंकि, तांत्रिक ने एक समाधि अपने घर के अंदर बना रखी थी। साथ ही उसके घर से तंत्र विद्या की सामग्री भी बरामद हुई है। मामले की जांच में जुटी पुलिस को पता चला की तांत्रिक पिछले दो साल से गांव में रह रहा था।

पुलिस को मृतक बच्ची के पिता ने बताया कि किस्तुराराम भील हाल निवासी दो साल से यहां गांव में घूमता था और उसने एक खेत में गड्ढा खोदकर मोर्चा बनाकर रखा था। पीड़ित पिता ने बताया कि शुक्रवार को इलाज के लिए तांत्रिक के पास लाया था लेकिन इलाज के दौरान मेरी बेटी को आरोपी ने जला दिया और बाद में खुद ने भी आत्मदाह कर ली। घटना को अंजाम देने वाला पाक शरणार्थी है। पुलिस मामले की छानबीन में जुटी हुई है।

ये भी पढ़े..

अंधविश्वास: युवती को सपने में दिखा सांप, अगले दिन नाग से कर ली शादी, बोली- मैं नागिन हूं

अंधविश्वास की हद पार, दिव्यांगता ठीक करने के लिए बच्चों को जमीन में गाड़ा

अंधविश्वास का कहर : कुत्ते के काटने पर युवक को घरवालों ने 3 दिन तक खूंटे से बांधकर रखा

Related posts