लखनऊः विधानसभा भवन के सामने महिला ने खुद को लगाई आग, हालत गंभीर

चैतन्य भारत न्यूज 

लखनऊ. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में विधानसभा भवन के सामने दिल दहला देने वाली घटना हुई है। मंगलवार दोपहर एक महिला ने खुद पर केरोसीन डालकर आग लगा ली। देखते ही देखते वहां सनसनी फैल गई। उसे अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने मुस्तैदी दिखाते हुए आग बुझा दी हालांकि तब तक महिला बुरी तरह झुलस चुकी थी।

जानकारी के मुताबिक महिला यहां उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलने की आस में आई थी। वह महाराजगंज की रहने वाली है। उसकी शादी यहीं के अखिलेश तिवारी (35) से हुई थी। मनमुटाव के बाद अखिलेश से तलाक हो गया। इसके बाद महिला ने अपना धर्म बदलकर आसिफ नामक युवक से निकाह कर लिया था। कुछ दिन बाद आसिफ नौकरी के लिए सऊदी अरब चला गया। महिला का आरोप है कि आसिफ के परिजन लगातार उसे प्रताड़ित कर रहे थे। उसने स्थानीय थाने में भी शिकायत की थी लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। महिला लखनऊ मुख्यमंत्री से मिलना चाहती थी और इसीलिए विधानसभा भवन पहुंची थी। यहां मुलाकात न हो पाने से दुखी महिला ने खुद को आग लगा ली। लखनऊ के डीसीपी सेंट्रल सोमेन वर्मा के मुताबिक मामले की जांच की जा रही है।

उधर, उत्तर प्रदेश के गोंडा में ही महिलाओं के खिलाफ अपराध का एक और मामला सामने आया है। गोंडा में सोमवार रात तीन दलित बहनों पर तेजाब फेंक दिया गया। तीनों झुलस गई हैं। एक की हालत गंभीर है। मामला जिले के परसपुर क्षेत्र के पसका गांव का है। तीनों बहने नाबालिग हैं। बड़ी बहन 17 साल की है। तीनों मकान की दूसरी मंजिल की छत पर सो रही थीं।

गौरतलब है कि कुछ महीने पहले भी इसी विधानसभा भवन के सामने अमेठी की रहने वाली मां-बेटी ने भी खुद को आग के हवाले कर दिया था। वे पड़ोसी से नाली को लेकर हुए विवाद की सुनवाई न होने से परेशान होकर यहां आई थीं। यहां तैनात पुलिसवालों ने उन्हें भी बचाने की कोशिश की थे लेकिन कामयाब नहीं हुए थे।

Related posts