आम आदमी पार्टी की विधायक अलका लांबा ने छोड़ी पार्टी, कहा- खास आदमी पार्टी बन गई 

चैतन्य भारत न्यूज

दिल्ली. दिल्ली के चांदनी चौक से विधायक अलका लांबा ने आज आम आदमी पार्टी (आप) से इस्तीफा दे दिया। प्राथमिक सदस्यता छोड़ने का ऐलान ट्विटर पर करते हुए अलका ने लिखा- AAP को गुड बाय कहने का समय आ गया है। मैंने पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया। कुछ दिन पहले अलका ने कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की थी। दिल्ली में होने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर माना जा रहा था कि वे जल्द ही कांग्रेस में शामिल हो सकती हैं। बाद में एक और ट्वीट कर अलका ने कहा- अरविंद केजरीवाल जी, आपके प्रवक्ताओं ने मुझे आपकी इच्छा के अनुसार पूरे अहंकार के साथ कहा कि पार्टी ट्विटर पर भी मेरा इस्तीफा स्वीकार कर लेगी इसलिए कृपया “आम आदमी पार्टी”, जो अब “खास आम आदमी पार्टी” बन चुकी है, की प्राथमिक सदस्यता से मेरा इस्तीफा स्वीकार करें।

अलका ने पिछले महीने ही घोषणा की थी कि उन्होंने पार्टी छोड़ने और आगामी विधानसभा चुनाव में निर्दलीय के रूप में उतरने का मन बना लिया है। गौरतलब है कि लांबा पिछले कुछ समय से आप नेतृत्व खासकर पार्टी के मुखिया और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से नाराज चल रही हैं। बताया जा रहा है कि अरविंद केजरीवाल ने कई महीनों से उन्हें मिलने तक का समय नहीं दिया था। अलका और आम आदमी पार्टी के बीच कुछ समय पहले शुरू हुआ टकराव लगातार चलता रहा। लोकसभा चुनाव में पार्टी की हार के बाद उन्होंने अपने राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल से जवाबदेही मांगी थी। इसके बाद उन्हें पार्टी विधायकों के आधिकारिक वाट्सएप ग्रुप से हटा दिया गया था। इससे पहले अलका ने लोकसभा चुनाव में पार्टी के लिए प्रचार करने से इनकार कर दिया था। अलका और आम आदमी पार्टी के बीच पहला टकराव पूर्व प्रधानमंत्री स्व. राजीव गांधी को दिए गए भारत रत्न सम्मान को वापस लिए जाने संबंधी प्रस्ताव पारित करने के पार्टी के फैसले को लेकर हुआ था।

अलका ने पार्टी के प्रस्ताव पर आपत्तियां उठाई थीं। उन्होंने दिसंबर 2018 में ट्वीट किया था कि पार्टी ने उन्हें प्रस्ताव का समर्थन करने को कहा जिससे उन्होंने इनकार कर दिया। लांबा ने कहा था कि वह इसके लिए किसी भी सजा का सामना करने के लिए तैयार हैं। बता दें कि उन्होंने अपना राजनीतिक करियर कांग्रेस से ही शुरू किया था और आम आदमी पार्टी में शामिल होने से पहले वे कांग्रेस में कई पदों पर रही थीं।

Related posts