भारतीय मूल के अर्थशास्‍त्री अभिजीत बनर्जी को मिला नोबेल पुरस्‍कार

abhijit banerjee,

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्‍ली. भारतीय मूल के अभिजीत बनर्जी, उनकी पत्नी एस्थर डुफलो और माइकल क्रेमर को अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कार मिला है। तीनों अर्थशास्त्रियों को ‘वैश्विक गरीबी खत्म करने के प्रयोग’ के उनके शोध के लिए सम्मानित किया गया है। इकनॉमिक साइंसेज कैटिगरी के तहत यह सम्मान पाने वाले अभिजीत बनर्जी भारतीय मूल के अमेरिकी नागरिक हैं। जबकि एस्‍थर डुफलो फ्रेंच-अमेरिकी हैं और माइकेल क्रेमर भी अमेरिकी हैं।



स्‍वीडिश अकादमी ने पुरस्‍कार की घोषणा करते हुए कहा कि अपने प्रयोगात्‍मक दृष्टिकोण से इन्‍होंने वैश्विक गरीबी को कम करने की दिशा में उल्‍लेखनीय योगदान दिया है। बता दें कोलकाता में जन्मे अभिजीत वर्तमान में एमआईटी में फोर्ड फाउंडेशन इंटरनेशनल प्रोफेसर के तौर पर कार्यरत हैं।

बनर्जी अब्दुल लतीफ जमील पोवर्टी एक्शन लैब में एस्टर डुफलो और सेंधिल मुल्लईनाथन के साथ को-फाउंडर हैं। इसके अलावा वह इनोवेशन ऑफ पॉवर्टी एक्शन और ये कंसोर्टियम फॉर फनेंशियल सिस्टम्स एंड पॉवर्टी के सदस्य भी हैं। अभिजीत ने नई दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी से पढ़ाई की है। उन्होंने साल 1988 में अमेरिका के हार्वर्ड विश्वविद्यालय से पीएचडी की।

Related posts