फायदे के चक्कर में लोग खुद निजी डेटा बांटने से नहीं करते परहेज

data,personal data

चैतन्य भारत न्यूज।

मुंबई. डेटा सुरक्षा आज एक महत्वपूर्ण विषय है लेकिन एक सर्वे के अनुसार यदि थोड़ा भी फायदा मिलता है तो लोग बेहद निजी जानकारियां साझा करने से गुरेज नहीं करते। इंटरनेट कंपनी एसेंचर के सर्वे में पता चला है कि वित्तीय सेवाएं लेने वाले 10 में से सात लोग सस्ती दर का लाभ उठाने के लिए बैंकों और बीमा कंपनियों को निजी सूचनाएं देने के लिए तैयार रहते हैं।

सर्वे के अनुसार फायदा पाने के लिए लोग आय, स्थान और लाइफ स्टाइल से जुड़ी बातें शेयर करने से नहीं हिचकते। जिन फायदों के लिए लोग निजी सूचनाएं साझा करने के लिए तैयार हैं, उनमें लोन की तेजी से मंजूरी, जिम की सदस्यता पर छूट और जगह के मुताबिक पर्सनलाइज्ड ऑफर शामिल हैं। इस सर्वे में भारत के दो हजार लोगों को शामिल किया गया था। 81 प्रतिशत लोगों ने हालांकि प्राइवेसी को सबसे अहम मुद्दा बताया और इस मामले में अधिक सतर्क रहने की बात स्वीकार की।

सर्वे के मुताबिक बीमा उद्योग में करीब 75 फीसदी लोग कार बीमा का प्रीमियम कम करने के लिए सुरक्षित ड्राइविंग से जुड़े निजी आंकड़े साझा करने को तैयार मिले। जीवन बीमा के मामले में 69 प्रतिशत लोग प्रीमियम घटाने के लिए जीवनशैली से जुड़े निजी आंकड़े साझा कर सकते हैं।

Related posts