गोडसे को ‘देशभक्त’ बताने वाले बयान पर प्रज्ञा ठाकुर ने दी सफाई, कहा- कभी-कभी झूठ का बवंडर इतना गहरा होता है…

sadhvi pragya singh thakur

चैतन्य भारत न्यूज

भोपाल. अक्सर ही अपने विवादित बयानों को लेकर सुर्खियों में बनी रहने वाली मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल से सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर इन दिनों फिर मुसीबत में फंस गईं हैं। प्रज्ञा ने लोकसभा में महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को दोबारा देशभक्त कह दिया। इसे लेकर विपक्ष ने काफी हंगामा किया, जिसके बाद केंद्रीय सरकार ने संसद में सफाई देते हुए कहा कि यह बयान निंदनीय है। इतना ही नहीं बल्कि संसदीय कार्यमंत्री प्रह्लाद जोशी ने साध्वी प्रज्ञा को रक्षा मंत्रालय की संसदीय समिति से भी हटा दिया है। अब साध्वी प्रज्ञा ने अपने बयान को लेकर ट्वीटर पर सफाई दी है।


मेरे बयान को गलत तरीके से लिया गया : प्रज्ञा

साध्वी प्रज्ञा ने ट्वीटर पर लिखा कि, ‘कभी-2 झूठ का बबण्डर इतना गहरा होता है कि दिन मे भी रात लगने लगती है किन्तु सूर्य अपना प्रकाश नहीं खोता पलभर के बबण्डर मे लोग भ्रमित न हों सूर्य का प्रकाश स्थाई है। सत्य यही है कि कल मैने ऊधम सिंह जी का अपमान नहीं सहा बस।’ प्रज्ञा का कहना है कि, उनके बयान को गलत तरीके से लिया गया और वह स्वतंत्रता सेनानी उधम सिंह का जिक्र कर रही थीं।

यह है पूरा घटनाक्रम

बुधवार को लोकसभा में प्रज्ञा ठाकुर ने तब एक बार फिर विवाद खड़ा कर दिया जब डीएमके के सांसद ए. राजा, गोडसे के एक बयान का हवाला दे रहे थे कि उसने महात्मा गांधी को क्यों मारा? इसके बाद प्रज्ञा ने उन्हें टोक दिया और कहा कि, ‘आप एक देशभक्त का उदाहरण नहीं दे सकते।’ हालांकि, प्रज्ञा के बयान को लोकसभा के रिकॉर्ड से हटा दिया गया। प्रज्ञा की इसी टिप्पणी को लेकर विपक्षी सदस्यों ने खूब विरोध किया और प्रज्ञा के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की मांग की। इसके बाद गुरुवार को साध्वी प्रज्ञा को न सिर्फ रक्षा मंत्रालय की संसदीय समिति से हटा दिया गया, बल्कि सत्र के दौरान होने वाली भाजपा संसदीय दल की बैठक में आने पर भी रोक लगा दी गई है।

पार्टी से किया जा सकता है निष्कासित

भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा, ‘उनका लोकसभा में कल दिया गया बयान निंदनीय है। भाजपा इस तरह के बयान या विचारधारा का समर्थन नहीं करती है। हमने फैसला लिया है कि उन्हें रक्षा सलाहकार समिति से हटाया जाएगा और वह इस सत्र के दौरान पार्टी की संसदीय दल की बैठक में हिस्सा नहीं ले पाएंगी।’ कहा जा रहा है कि प्रज्ञा को पार्टी से निष्कासित भी किया जा सकता है। हालांकि, इसे लेकर अब तक कोई आधिकारिक जानकारी नहीं मिली है।

प्रज्ञा पर पीएम मोदी हुए थे नाराज

गौरतलब है कि प्रज्ञा ने लोकसभा चुनाव के दौरान भी नाथूराम गोडसे को देशभक्त कहा था। इसके बाद पीएम नरेंद्र मोदी ने भी नाराजगी जताई थी। उन्होंने कहा था कि, ‘भले ही इस मामले में साध्वी प्रज्ञा ने माफी मांग ली हो, लेकिन मैं अपने मन से उन्हें कभी भी माफ नहीं कर पाऊंगा।’

ये भी पढ़े…

रक्षा मंत्रालय की संसदीय समिति से हटाई गईं प्रज्ञा ठाकुर, बीजेपी भी कर सकती है बाहर!

साध्वी प्रज्ञा को मिली रक्षा मंत्रालय की कमेटी में जगह, कांग्रेस ने बताया दुर्भाग्यपूर्ण

कमलनाथ के इस मंत्री ने साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को बताया अनोखा जीव, पीएम मोदी पर भी कसा तंज

बीजेपी नेताओं के निधन पर साध्‍वी प्रज्ञा के विवादित बोल, कहा- विपक्ष करा रहा है जादू-टोना!

Related posts