VIDEO: काबुल से भागने के लिए विमान के टायर पर लटके लोग, 3 लोग हवा में गिरे, मौत

चैतन्य भारत न्यूज

काबुल. अफगानिस्तान में तालिबान की दोबारा कायम हुई हुकूमत से घबराए लोग किसी भी तरह मुल्क छोड़ना चाहते हैं। इसका एक भयावह दृश्य सोमवार को काबुल एयरपोर्ट पर नजर आया। अमेरिकी वायुसेना का सैन्य विमान जैसे ही टेकऑफ के लिए आगे बढ़ रहा था, लोगों का हुजूम रनवे पर विमान के साथ-साथ चल रहा था। विमान के उड़ान भरने से पहले कुछ लोग टायरों के ऊपर बनी जगह पर सवार हो गए। विमान जब ऊंचाई पर पहुंच गया तो लोगों ने संतुलन खो दिया। तीन लोगों की आसमान से गिरने से मौत हो गई। बाद में उनके शव मकानों की छत पर मिले।


हालात इतने बिगड़ चुके हैं कि 60 देशों ने तालिबान से गुहार लगाई है कि जो नागरिक अफगानिस्तान में नहीं रहना चाहते, उन्हें देश छोड़कर जाने दिया जाए। अफगानिस्तान में तालिबान की दोबारा कायम हुई हुकूमत से घबराए लोग किसी भी तरह मुल्क छोड़ना चाहते हैं। इसका एक भयावह दृश्य सोमवार को काबुल एयरपोर्ट पर नजर आया। अमेरिकी वायुसेना का सैन्य विमान जैसे ही टेकऑफ के लिए आगे बढ़ रहा था, लोगों का हुजूम रनवे पर विमान के साथ-साथ चल रहा था। विमान के उड़ान भरने से पहले कुछ लोग टायरों के ऊपर बनी जगह पर सवार हो गए। विमान जब ऊंचाई पर पहुंच गया तो लोगों ने संतुलन खो दिया। तीन लोगों की आसमान से गिरने से मौत हो गई। बाद में उनके शव मकानों की छत पर मिले। हालात इतने बिगड़ चुके हैं कि 60 देशों ने तालिबान से गुहार लगाई है कि जो नागरिक अफगानिस्तान में नहीं रहना चाहते, उन्हें देश छोड़कर जाने दिया जाए।


काबुल एयरपोर्ट पर विमान में सवार होने के लिए भीड़ इस तरह जुट रही है जैसे कोई बस स्टेशन हो या रेलवे स्टेशन का अनारक्षित डब्बा। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक और वीडियो में विमान के रनवे पर दौड़ने के साथ उसके पास जुटी लोगों की भीड़ भी दौड़ती दिखाई दे रही है। इसके साथ ही कुछ लोग तो विमान के बाहरी हिस्सों पर बैठे हुए दिखाई दे रहे हैं। ऐसे में कोई भी बड़ा हादसा होने की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है।

बता दें कि अफगानिस्तान इस समय सत्ता परिवर्तन के महासंकट से जूझ रहा है। यहां की बागडोर तालिबान ने संभाल ली है और पूर्व राष्ट्रपति अशरफ गनी देश छोड़कर जा चुके हैं। इससे पहले रविवार को राजधानी काबुल में तालिबान के दाखिल होने के साथ ही स्थिति बिगड़नी शुरू हो गई थी। तालिबान से डर की वजह से लोगों में देश छोड़ने के लिए जल्दबाजी दिख रही थी और इस वजह से राजधानी काबुल की सड़कों पर भीषण जाम के हालात बन गए थे।

Related posts